Posted in हास्यमेव जयते

*मुख* और *जीभ* का *व्यायाम*
1. *कच्चा पापड़, पक्का पापड़*
सबसे ज़्यादा फेमस और हमारे दिल के सबसे क़रीब. एक बार में 15 बार बोल के दिखाओ तो जानें.
 

2. *फालसे का फासला*
चैलेंज है कि 20 बार बिना रुके बोल कर दिखाओ.
 

3. *पीतल के पतीले में पपीता पीला पीला*
मुस्कुरा का रहे हो, 12 बार इसे बोल कर दिखाओ.
 

4. *पके पेड़ पर पका पपीता पका पेड़ या पका पपीता*
मेरी जीभ तो लगभग फ्रैक्चर होते-होते बची है.
 

5. *ऊंट ऊंचा, ऊंट की पीठ ऊंची. ऊंची पूंछ ऊंट की*
क्या हुआ? 
6. *समझ समझ के समझ को समझो, समझ समझना भी एक समझ है. समझ समझ के जो न समझे, मेरे समझ में वो ना समझ है.*
इसे एक बार ही बोल के दिखाएँ 
 

7. *दूबे दुबई में डूब गया*
अच्छा ठीक है.ज़्यादा ख़ुश मत हों. ये आपकी फूलती सांसों को आराम देने के लिए था.
 

8. *चंदु के चाचा ने चंदु की चाची को, चांदनी चौक में, चांदनी रात में, चांदी के चम्मच से चटपटी चटनी चटाई*
अब चाहे जो कुछ भी करना, मगर अपने बाल मत नोंचना.
 

9. *जो हंसेगा वो फंसेगा, जो फंसेगा वो हंसेगा*
आपको ये आसान लग रहा है. जरा इसे 10 बार से ज़्यादा बार बोल कर दिखाइए.
 

10. *खड़क सिंह के खड़कने से खड़कती हैं खिड़कियां, खिड़कियों के खड़कने से खड़कता है खड़क सिंह*
 मेरे तो पूरे बदन में खड़कन हो रही है.
 

11. *मर हम भी गए, मरहम के लिए, मरहम न मिला. हम दम से गए, हमदम के लिए, हमदम न मिला*
बोलो-बोलो मुंह मत चुराओ.
 

12. *तोला राम ताला तोल के तेल में तल गया, तला हुआ तोला तेल के तले हुए तेल में तला गया*
ऐसे देख का रहे होे? 
 

13. *डाली डाली पे नज़र डाली, किसी ने अच्छी डाली, किसी ने बुरी डाली, जिस डाली पर मैने नज़र डाली वो डाली किसी ने तोड़ डाली*
बोलो बोलो… 
 

14. *पांच आम पंच चुचुमुख-चुचुमुख, पांचों मुचुक चुचुक पंच चुचुमुख*
😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇😇
Ek baar try kar ke Dekho … 🌺🌺👍👍🙏🏻🙏🏻

Advertisements

Author:

Hello, Harshad Ashodiya I have 12,000 Hindi, Gujarati ebooks

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s