Posted in हास्यमेव जयते

एक इंटरव्यू चल रहा था 😒नौकरी पहले ही बॉस के रिश्तेदार के लिये पक्की हो चुकी थी..,
..

लेकिन दिखावे के लिये इंटरव्यू तो लेना ही था,

…😕
इसलिये ऐसे सवाल पूछे जा रहे थे, जिनका कोई जवाब संभव नहीं था, एक के बाद एक केंडीडेट आ रहे थे, जा रहे थे….!
…😌

फिर गुजराती की बारी आयी….!!

😋इंटरव्यू लेने वाला:— आप नदी के बीच एक बोट पर हैं, और आपके पास दो सिगरेट के अलावा कुछ भी नही है….!!!
..
आपको एक सिगरेट जलानी है, कैसे जलाओगे…??
.

☺गुजराती बड़े सीरियसली सोचने के बाद बोला…….!

..
.
😏सर इसके तीन-चार सोल्युशन हो सकते हैं……!!
…. ..

😳इंटरव्यू लेने वाले को बहुत आश्चर्य हुआ कि जिस सवाल का एक भी जवाब नही हो सकता, उसके तीन-चार जवाब कहां से आ गये…… उसने बोला बताओ….!!

☺गुजराती का पहला अनोखा जवाब:—

एक सिगरेट पानी में फेंक दो, then boat will become lighter (हल्की),
और “lighter” से आप सिगरेट जला सकते हैं…..!

..
😳इंटरव्यू लेने वाला(Shocked)…….?😳

😨गुजराती का दुसरा खतरनाक जवाब:—
Throw a cigaratte up and catch it,
“Catches win the Matches”,
using the matches that you win, you can light the cigarette…..!!

😨Interviewer was speechless…..??

😜सर अभी तो एक उपाय और है……!

Take some water in your hand and drop it,
drop-by-drop.
It will sound like ..Tip..Tip-Tip..Tip….!!

😵Interviewer:— उससे क्या होगा…..???
..

😌सर आपने वो गाना नही सुना “टिप-टिप बरसा पानी, पानी ने आग लगाई…..”!!!😒

इस आग से आप अपनी सिगरेट जला सकते हैं…..!😜

😉सर यदि ये काफी नही हैं तो अभी भी मेरे पास एक और उपाय है, वह भी सुन लीजिए:—😋

😘आप एक सिगरेट से प्यार करने लगिए, दूसरी अपने आप जलने लगेगी…..!!😜

..
.
😱इंटरव्यू लेने वाला चकित हो गया और चिल्ला कर बोला:—😨

..
😰”रिश्तेदार”…….को मारो गोली, नौकरी तो गुजरातीको ही मिलेगी….

If you like this be pakka Gujarati ….
Jo
Na kabhi hara he
Na kabhi thaka he ..

Posted in हास्यमेव जयते

👱🏼‍♂ પતિ એ પત્ની પાસેથી રૂ 250 ઉછીના લીધા👱‍♀

થોડા દિવસ પછી ફરીથી Rs.250 ઉછીના લીધા

પતિની બેગમાં થોડા રૂપિયા 💷જોઈને 💼, તેણે પતિ 👱🏼‍♂પાસેથી રૂપિયા પાછા માંગ્યા

પતિ એ જ્યરે પૂછ્યું કે કેટલા પાછા આપવાના થાય છે તો પત્ની એ કહ્યું Rs.4100.

ચમકી ઉઠેલા 😳પતિ એ સમજાવવા વિનંતી કરી તો પત્નીએ નીચે પ્રમાણે હિસાબ આપ્યો.👱‍♀

1). Rs. 2 5 0
2). Rs. 2 5 0
Total Rs. 4 10 0

પતિ👱🏼‍♂ હજી પણ શોધી રહ્યો છે કે પત્ની 👱‍♀️કઈ સ્કુલ 🏫 માં આવું ગણિત શીખી છે? .

થોડા દિવસ પછી👇👇👇

પતિ એ તેને ₹400 પાછા આપી પૂછ્યું કે હવે કેટલા આપવાના બાકી રહ્યા ?.

પત્ની એ લખ્યું✍

₹ 4100

₹ 400

=₹ 100

પતિ એ તરત ₹100 પાછા આપી રાહત નો શ્વાસ લીધો.

એ પછી બંને 👱🏼‍♂👱‍♀ સુખેથી જીવ્યા.

માત્ર ગણિત મરી પરવાર્યું.😆

Posted in हास्यमेव जयते

😎जस्ट पूछिंग …
किसी को पता है,
गलतियों पर डालने वाला
पर्दा कहाँ मिलता है..?
और कपड़ा कितना लगेगा .??

जस्ट पूछिंग …
एक बात बताओ,
धोखा खाने के बाद
पानी पी सकते हैं क्या ?

जस्ट पूछिंग …
अगर किसी से चिकनी-चुपड़ी
बात करनी हो तो
कौन सा घी सही रहेगा ?
किसी को पता है ?

जस्ट पूछिंग …
पाप को हमेशा
घड़े में ही क्यूँ भरते हैं ?
ठंडा रहता है क्या ?

जस्ट पूछिंग …
ये दिल पर रखने वाला
पत्थर कहाँ मिलता है ?
और वो कितने किलो का होता है ?

जस्ट पूछिंग …
किसी के जख्मों पर
नमक छिड़कना है।
कौन सा सही रहेगा?
टाटा या पतंजलि का…?

जस्ट पूछिंग …
कोई मुझे बताएगा कि
जो लोग कहीं के नहीं रहते,
आखिर वो रहते कहां हैं ?

जस्ट पूछिंग …
सब लोग “इज्जत” की
रोटी कमाना चाहते हैं।
लेकिन कोई “इज्जत” की
सब्जी क्यों नहीं कमाता..?

जस्ट पूछिंग …
भाड़ में जाने के लिए
ऑटो ठीक रहेगा या टैक्सी ?

जस्ट पूछिंग …
एक बात पूछनी थी,
ये जो इज्ज़त का
सवाल होता है….
ये कितने नम्बर का होता है ?
जस्ट पूछिंग … 😉🤪😁😄😆😂

Posted in હાસ્ય કવિતા

वीर तुम अड़े रहो, रजाई में पड़े रहो
चाय का मजा रहे, प्लेट पकौड़ी से सजा रहे
मुंह कभी रुके नहीं, रजाई कभी उठे नहीं
वीर तुम अड़े रहो, रजाई में पड़े रहो
मां की लताड़ हो या बाप की दहाड़ हो
तुम निडर डटो वहीं, रजाई से उठो नहीं
वीर तुम अड़े रहो, रजाई में पड़े रहो
मुंह भले गरजते रहे, डंडे भी बरसते रहे
दीदी भी भड़क उठे, चप्पल भी खड़क उठे
वीर तुम अड़े रहो, रजाई में पड़े रहो
प्रात हो कि रात हो, संग कोई न साथ हो
रजाई में घुसे रहो, तुम वही डटे रहो
वीर तुम अड़े रहो, रजाई में पड़े रहो
एक रजाई लिए हुए एक प्रण किए हुए
अपने आराम के लिए, सिर्फ आराम के लिए
वीर तुम अड़े रहो, रजाई में पड़े रहो
कमरा ठंड से भरा, कान गालीयों से भरे
यत्न कर निकाल लो,ये समय तुम निकाल लो
ठंड है यह ठंड है, यह बड़ी प्रचंड है
हवा भी चला रही, धूप को डरा रही
वीर तुम अड़े रहो, रजाई में पड़े रहो।।

रजाई धारी सिंह दिनभर😂😂😂😂

Posted in हास्यमेव जयते

Very Very Funny Jokes
3 hrs ·
इंटेलिजेंस ब्यूरो में एक उच्च पद हेतु भर्ती की प्रक्रिया चल रही थी।
अंतिम तौर पर केवल तीन उम्मीदवार बचे थे जिनमें से किसी एक का चयन किया जाना था।
इनमें दो पुरुष थे और एक महिला।
फ़ाइनल परीक्षा के रूप में कर्तव्य के प्रति उनकी निष्ठा की जांच की जानी थी।
पहले आदमी को एक कमरे में ले जाकर परीक्षक ने कहा –”हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि तुम हर हाल में हमारे निर्देशों का पालन करोगे चाहे कोई भी परिस्थिति क्यों न हो।”
फ़िर उसने, उसके हाथ में एक बंदूक पकड़ाई और दूसरे कमरे की ओर इशारा करते हुये कहा –
”उस कमरे में तुम्हारी पत्नी बैठी है। जाओ और उसे गोली मार दो।”
”मैं अपनी पत्नी को किसी भी हालत में गोली नहीं मार सकता”-
आदमी ने कहा।”
तो फ़िर तुम हमारे किसी काम के नहीं हो।
तुम जा सकते हो।” – परीक्षक ने कहा।
अब दूसरे आदमी को बुलाया गया। ”
हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि तुम हर हाल में हमारे निर्देशों का पालन करोगे चाहे कोई भी परिस्थिति क्यों न हो।”
कहकर परीक्षक ने उसके हाथ में एक बंदूक पकड़ाई और दूसरे कमरे की ओर इशारा करते हुये कहा – ”उस कमरे में तुम्हारी पत्नी बैठी है। जाओ और उसे गोली मार दो।”
आदमी उस कमरे में गया और पांच मिनट बाद आंखों में आंसू लिये वापस आ गया। ”मैं अपनी प्यारी पत्नी को गोली नहीं मार सका। मुझे माफ़ कर दीजिये। मैं इस पद के योग्य नहीं हूं।”
अब अंतिम उम्मीदवार के रूप में केवल महिला बची थी। उन्होंने उसे भी बंदूक पकड़ाई और उसी कमरे की तरफ इशारा करते हुये कहा – ”
हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि तुम हर हाल में हमारे निर्देशों का पालन करोगी चाहे कोई भी परिस्थिति क्यों न हो।
उस कमरे में तुम्हारा पति बैठा है। जाओ और जाकर उसे गोली से उड़ा दो।”
महिला ने बंदूक ली और कमरे के अंदर चली गई।
कमरे के अंदर घुसते ही फ़ायरिंग की आवाज़ें आने लगीं । लगभग 11 राउंड फायर के बाद कमरे से चीख-पुकार, उठा-पटक की आवाज़ें आनी शुरू हो गईं।
यह क्रम लगभग पन्द्रह मिनटों तक चला 🕞उसके बाद खामोशी छा गई।
लगभग पांच मिनट बाद कमरे का दरवाजा खुला और माथे से पसीना पोंछते हुये महिला बाहर आई।
बोली – ”तुम लोगों ने मुझे बताया नहीं था कि बंदूक में कारतूस नकली हैं। मजबूरन, मुझे उसको पीट-पीट 💭💭💭💭💭💭💭 कर मारना पड़ा।”

Posted in हास्यमेव जयते

🤣चुटकुला🤣
एक बुढा और एक बुढ़िया थे।बुढा बुढ़िया को बहुत प्यार करता था। बुढ़िया जहाँ जाती बुढा उसके पीछे-पीछे जाता ।जैसे की बुढ़िया बरतन धोती बुढा उसके पीछे खड़ा हो जाता।बुढ़िया घर का कोई भी काम करती बुढा उसके पीछे रहता ।वह बुढ़िया को एक सेकंड के लिए भी अकेला नहीं छोड़ता। इससे बुढ़िया बहुत परेशान हो गयी । बुढ़िया के घर से उसकी माँ के फ़ोन आ रहे थे की बेटी एक बार मिलने आजा पर बुढ़िया कैसे जाए बुढा तो उसे अकेला छोड़ता ही नहीं। तब बुढ़िया ने कुछ सोचा उसने बुढे से कहाँ चलो जी आज हम छुप्पन-छुप्पआई खेलते है । तुम छुपो मैं तुम्हे ढूढूगी ।बुढा जाकर छुप गया । बुढ़िया जल्दी से दुसरे कमरे में गयी वहां से उसने अपना बक्सा उठाया । और जल्दी से अपनी माँ के घर पहुच गयी। अपनी माँ के घर पहुचकर बक्सा रखकर बोली चलो बुढे से छुटकारा तो मिला ।और जैसे ही उसने बक्सा खोला बुढा बोला धप्पा।।।🤣💐🤣🤣😝😝😝😝😝🤭

Posted in हास्यमेव जयते

एक दिन एक बहुत बड़े कजूंस सेठ के घर में कोई मेहमान आया!

कजूंस ने अपने बेटे से कहा,

आधा किलो बेहतरीन मिठाई ले आओ।
बेटा बाहर गया और कई घंटों बाद वापस आया।

😊😊

कंजूस ने पूछा मिठाई कहाँ है।

बेटे ने कहना शुरू किया-” अरे पिताजी, मैं मिठाई की दुकान पर गया और हलवाई से बोला कि सबसे अच्छी मिठाई दे दो।

हलवाई ने कहा कि ऐसी मिठाई दूंगा बिल्कुल मक्खन जैसी।

फिर मैंने सोचा कि क्यों न मक्खन ही ले लूं।
मैं मक्खन लेने दुकान गया और बोला कि सबसे बढ़िया मक्खन दो।
दुकान वाला बोला कि ऐसा मक्खन दूंगा बिल्कुल शहद जैसा।

मैने सोचा क्यों न शहद ही ले लूं। मै फिर गया शहद वाले के पास और उससे कहा कि सबसे मस्त वाला शहद चाहिए।
वो बोला ऐसा शहद दूंगा बिल्कुल पानी जैसा साफ।

तो पिताजी फिर मैंने सोचा कि पानी तो अपने घर पर ही है और मैं चला आया खाली हाथ।

कंजूस बहुत खुश हुआ और अपने बेटे को शाबासी दी।
लेकिन तभी उसके मन में कुछ शंका उतपन्न हुई।

“लेकिन बेटे तू इतनी देर घूम कर आया।
चप्पल तो घिस गयी होंगी।”

“पिताजी ये तो उस मेहमान की चप्पल हैं जो घर पर आया है।”

बाप की आंखों मे खुशी के आंसू आ गए ।

😂😂😂😂😂