Posted in छोटी कहानिया - १०,००० से ज्यादा रोचक और प्रेरणात्मक

बंटवारा नहीं होगा



Author:जयप्रकाश भारती

दो भाई थे । अचानक एक दिन पिता चल बसे । भाइयों में बंटवारे की बात
चली-“यह तू ले, वह मैं लूं, वह मैं लूंगा, यह तू ले ले ।” आए दिन दोनों बैठे
सूची बनाते, पर ऐसी सूची न बना सके, जो दोनों को ठीक लगे । जैसे-तैसे
बंटवारे का मामला सुलझने लगा, तो एक खरल पर आकर उलझ गया ।
“पिता जी अपने लिए इस खरल में दवाइयां घुटवाते थे । उसे तो मैं ही अपने
पास रखूगा ।” बड़े ने कहा । छोटा तुनककर बोला-“यह तो कभी हो नहीं
सकता । दवाइयां घोट-घोटकर तो उन्हें मैं ही देता था । उनकी निशानी के तौर
पर मैं इसे रखूगा ।”
बात बढ़ गयी और सारा किया-धरा चौपट । अब पंचों से फैसला कराना तय
हुआ। पंच चुने गए । उन्होंने सबसे पहले दोनों को घर से बाहर निकाला और
दो ताले द्वार पर डाल दिये । तय हुआ-बंटवारा दो दिन बाद करेंगे । दोनों में से
अब कोई भाई अकेला भीतर नहीं जा सकता था । पर हमारे समाज में वे भी
तो है, जो द्वार से घर में नहीं घुसते । रात हुई, चोर दीवार लांघकर भीतर घुसे
और सारा माल समेटकर गायब हो गये।
दो दिन बाद घर खोला गया । अब बांटने को धन बचा ही नहीं था । दोनों भाई
खड़े-खड़े हाथ मल रहे थे । एक कोने में पड़ा खरल उन्हें चिल्ला रहा था।
दोनों भाइयों ने पंचों के हाथ जोड़े । कहा-” अब बंटवारा नहीं होगा । हम
साथ-साथ ही रहेंगे।”
खरल के झगड़े ने धन गंवा दिया । मेल से रहना और प्रेम बांटना ही सुखी
जीवन बिताने का सूत्र है।

अनमोल वचनों घृत

Posted in छोटी कहानिया - १०,००० से ज्यादा रोचक और प्रेरणात्मक

वैवाहिक जीवन


दर्द भरा हँसमुखी हास्य ☺️😢😊😢☺️😊😢💐💐💐
वैवाहिक जीवन का पहला पड़ाव-
नयी-नयी शादी हुई है,
पतिदेव प्रात: शेविंग कर रहे हैं तभी उनको ब्लैड लग जाता है।
आहs की हल्की आवाज उनके मुंह से निकली, और पत्नीजी किचिन से भागी हुई आयी!
अरे! ब्लैड लग गया ! पति ने पत्नी से नार्मल होते हुए कहा ! 🤷‍♀🤷‍♀
(पत्नी जल्दी से ‘डिटाल’ लाती है।)
हाय दैय्या ! कितना सारा ब्लड निकल गया, आज ,आप आफिस मत जाइये, घर पर ही रेस्ट कीजिए ,फेसबुक चलाइये फिर व्हाट्सऎप दौड़ाइए ! हाय राम , दर्द हो रहा होगा न ? पत्नी दुःखी स्वर में ‘डिटाल’ लगाती हुई बोली!
वैवाहिक जीवन का दूसरा पड़ाव- 🤷‍♀🤷‍♀🤷‍♀
अब बच्चे हो जाते हैं,
“पति महोदय” रोज की तरह शेविंग कर रहे है, उनको ब्लैड लग जाता है।
उफ!! …..ब्लैड लग गया, पति महोदय होने वाले ‘दर्द’ से भी तेज 🧐 चिल्लाये।😡😡😡
आप भी ना!!, इतने साल हो गए ,आपको सेविंग करते हुए , पर अभी तक आपको सेविंग बनानी नहीं आयी, अभी फेसबुक , व्हाट्सएप के ग्रुप बनाने को कहो तो फटाक से बन जाएंगे , ये लो फिटकरी 😢😢 रगड़ लो, मैं आपका और बच्चों का लन्च तैयार कर रहीं हूँ। मुझे पार्लर में भी जाना है , पत्नी झल्लाती हुई फिटकरी पटकते हुए वहां से चली गयी।
वैवाहिक जीवन का तीसरा पड़ाव-
बच्चों का विवाह हो चुका है। पति जी शेविंग कर रहे हैं और उनको ब्लैड लग जाता है!
हायsssss मर गया!!!
अरे ‘बच्चों’ की मम्मी’ कहां है तू ? 🤱
”क्यों चिल्ला रहे हो, इतना गला फाड कर,😡😡😡😡😡 ब्लैड ही तो लगा है, कोई तलवार तो नहीं लगी ? कितनी बार कहा है, अब अपने आप ‘दाढ़ी ‘ मत बनाया करो, नाई से बनवा लिया करो, पर तुम्हे तो प्रोफाइल पिक में जवान बनने की लगी है ना ? ‘
वृद्ध पत्नीजी बिस्तर में लेटे-लेटे चिल्लाई।
अलमारी में ‘डिटाल’ या ‘फिटकरी’ रखी होगी उठकर लगा लो!
ये कहकर पत्नीजी ने चादर मुंह तक तान ली!
किसी ने ठीक ही कहा है-
प्यार में हम ज्यों ज्यों आगे बढ़ते गये,
‘आप’ से ‘तुम’ फिर तुम से ‘तू’ होते गए ।
कुछ समझे ” आप ” ??
हँसते रहिये 😅😆😁😄😄😀😜👻😜👻😜👻😍