Posted in खान्ग्रेस

आप सोचकर देखिये की दुनियां में सबसे महंगा क्या हैं !
सोना! प्लेटेनियम!! हीरा!! या इरेडियम!!
इन सबसे भी महंगी होती हैं पुरातन वस्तुएं! जी हां ‘पुरातन वस्तुओं’ की कीमत का आप अंदाजा भी नही लगा सकते हैं।
एक उदाहरण देता हूँ कि 2001 में इजिप्ट में खुदाई के दौरान एक शराब की बोतल निकली जो लगभग 1800 वर्ष पुरानी थी जिसकी नीलामी हुई और अंतरराष्ट्रीय बाजार में उसकी कीमत 110 करोड़ लगी! वह भी सन 2001 में!!!
हाँ 110 करोड़!! और उसे चीन के एक व्यापारी ने यह कीमत चुकाकर खरीदा था।
जिन्हें पता हैं वे तो नही ..लेकिन कुछ लोग सोचेंगे जरूर की ऐसा क्या था उस शराब में! क्योंकि वह इस धरती की उपलब्ध सबसे पुरानी शराब थी और इसी बात ने उसकी कीमत अरबों के पार पहुंचा दी थी।
2006 में वाशिंगटन के AO म्यूजियम में रखे दुनिया के सबसे पुराने सिक्कों की कीमत 250 करोड़ से शुरू होकर 310 करोड़ तक पहुंच गई और आनन फानन में अमेरिकी सरकार ने नीलामी बन्द करवाकर उन सिक्कों को अपनी कस्टडी में ले लिया था म्यूजियम को 340 करोड़ की कीमत चुकाई गई!!
पुरातन वस्तुओं की कीमत का अंदाजा आपको शायद हो गया होगा!!
अब जरा यह सोचिये की दुनिंया का सबसे बड़ा और प्राइवेट म्यूजियम हो जिसके पास सबसे ज्यादा पुरातन वस्तुओं का संग्रह हो उसका मालिक कितना अमीर होगा!!
सोनियां गाँधी की बहन इटली के सबसे बड़े तीन म्यूजियम की अकेली मालकिन हैं …उनमें एक म्यूजियम का नाम ‘गनेशन म्यूजियम’ हैं वह अघोषित दुनियां का सबसे बड़ा म्यूजियम हैं। मजे की बात ये हैं कि 98%मूर्तियों के संग्रह से सजा ये म्यूजियम भारत की मूर्तियों से भरा हैं जिनकी कीमत आप के केसियो केलकुलेटर में भी नही आएगी!! ये मूर्तियां वहाँ कैसे पहुंची ये बताने की शायद ही जरूरत पड़े लेकिन हाल ही में भारत सरकार के प्रयासों से ‘अप्सरा’ नाम की मूर्ति भारत वापिस आई हैं जो सीकर जिले के बाड़ोली गांव से चोरी हुई थी। इस मंदिर से और भी मूर्तियां चोरी हुई थी जिनकी कीमत करोड़ो डॉलर हैं उनमें दो मूर्तियों को भारत वापिस लाया जा चुका हैं इसके लिये में भारत सरकार की सराहना करता हूँ
चलते चलते आपको ये बता दूं कि कांग्रेस के तमिलनाडु में दो विधायक इसी मूर्ति चोरी प्रकरण में दो दो बार गिफ्तार हो चुके हैं। देशभर में दस साल पहले सैंकड़ो गैंग मूर्ति चोरी गैंग बनाकर इस अपराध में लिप्त थे। इंटरनेट पर जानकारी जुटाएंगे तो आपके सामने ये भी आएगा कि इंदिरा और सोनियां में मूर्ति चोरी मामले पर बहस हुई थी और सोनियां को इंदिरा ने बाकायदा वार्निंग दी थी। 1982 में कर्नाटक से दो इतालवी नागरिकों को रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया और सोनियां के सीधे हस्तक्षेप पर उन्हें छोड़ दिया गया ये मामला ऑन रिकॉर्ड दर्ज हैं
बाकि मंदिरों से दूर होने के जोक पढ़कर हंसने वालो ..भगवान के नाम से बनी मूर्तियां भी अरबों डॉलर में बिकती हैं तो …भगवान की कीमत तुम क्या जानो!!

Author:

Buy, sell, exchange books

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s