Posted in छोटी कहानिया - १०,००० से ज्यादा रोचक और प्रेरणात्मक

😠फिर एक ओर बंद😠

राज कुमार

     व्यापारी तो बहुत सालो से परेशान हो रहा है कहीं बलात्कार हो रहा है तो दुकान बंद करो...

कही दंगा हो रहा है तो दुकान बंद करो..
जिसको आरक्षण चाहिए उसके लिये दुकान बंद करो..
जिसको आरक्षण नहीं चाहिए उसके लिए बंद करो…
दुकानदार दुकानदार नहीं रह गया वो होली का नंगाडा बंन गया है हर कोई बजा के निकाल लेता है !
व्यापारियों को भी कोर्ट जा कर नियम बनवाना चाहिए की अगर बंद करना है तो सरकारी दफ्तरों को बंद कराओ क्योंकि तुमको परेशानी सरकार से है व्यापारी से नहीं !

व्यापारी दोस्तों सोचो कोई तो आगे आए॥

दुकानदार को तो पार्टियों ने घण्टा समझा है
जब देखो
जहां भी तकलीफ़ हुई उस दिन बंद
अरे किसी दुकानदार का दर्द तो वहीं जाने
एक धंदे मन्दे है
ऊपर से आये दिन बंद
अगर बंद करना है तो सांसद,विद्यायक और मंत्रियों को उनके घरों में बंद करें,सरकारी कार्यालय बंद करें
तो समझ मे आएं

लेकिन व्यापारियों ने कसम ही खाई है
बस चुपचाप सहते जाओ

चोर की नजर में व्यापारी चोर,

नेता की नजर में व्यापारी चोर,

सेल टेक्स,इनकम टैक्स की नजरों में व्यापारी चोर,

और तो और अपने घरवालों की नजर में हम उनके टाईम-चोर क्योंकि हम उनके लिये समय नही निकाल पातें।
आखिर व्यापारियों ने ऐसा क्या जुर्म किया है??

Author:

Buy, sell, exchange old books