Posted in Rajniti Bharat ki

🙏भाजपा की मजबूरी >>><<<

🚩 समस्त कट्टर हिंदू “भाइयों से निवेदन है “की पूरा पोस्ट जरूर पढ़ें!
तथा इस पोस्ट को “अधिक से अधिक शेयर कर” भाजपा की मजबूरी को बताएं !

😣कुछ लोग यह “अफवाह फैलाते हैं “कि भाजपा की केंद्र में पूर्ण बहुमत की” मोदी सरकार है !

तथा उत्तर प्रदेश में भी पूर्ण बहुमत की” योगी सरकार है !

तब भी भाजपा “क्यों राम मंदिर का निर्माण तथा कश्मीर में धारा 370 हटाने का निर्णय” क्यों नहीं लेती है!

भाजपा सिर्फ” हिंदुत्व के नाम पर
हिंदू का वोट लेकर” हिंदू के लिए कोई काम नहीं करती !

👕 ऐसे लोगो के प्रश्न का उत्तर “मैं देता हूं !

😎कृपया ध्यान से पढ़ें “और समझे फिर विचार करें !

राज्यसभा में “”भाजपा के पास” बहुमत नहीं है !!!

🇮🇳भारत में किसी भी “बिल को कानून बनाने के लिए” संसद के दोनों सदनों में “बिल को पास कराना पड़ता है!
तभी वह बिल कानून बनता है !

🇮🇳 भारत में दो सदन हैं !
(1) लोकसभा (2) राज्यसभा

वर्तमान में “भाजपा के पास लोकसभा में बहुमत है !

🎇लेकिन “राज्यसभा में बहुमत नहीं है !

नोट >><< ( विधानसभा अलग होता है)

🌷लोकसभा का आशय >>><< लोकसभा में बहुमत ” सरकार बनाने के लिए होता है !
अर्थात- सरकार चलाने के लिए होता है !

💥राज्यसभा का आशय >>><<< राज्यसभा में बहुमत बिल को” पास कराकर “कानून बनाने के लिए होता है!
अर्थात- राज्यसभा में बहुमत संविधान” संशोधन के लिए होता है !

🏛 अगर भाजपा ” राम मंदिर निर्माण का बिल “लोकसभा में लाती है !

तो भाजपा “लोकसभा में अपने दम पर बिल को” लोकसभा मे पास करा ले जाएगी !

क्योंकि भाजपा के पास लोकसभा में बहुमत है !

अर्थात “भाजपा के अपने पास लोकसभा की 272 सीटें हैं !
जो पूर्ण बहुमत है !

लोकसभा में” बिल पास होने के बाद “राम मंदिर निर्माण का बिल राज्यसभा में जाएगा !

👎राज्यसभा में भाजपा के पास बहुमत नहीं है !

तथा कोई भी “राजनीतिक पार्टी राम मंदिर निर्माण के “इस बिल का समर्थन नहीं करेंगे !
👎जिससे बिल गिर जाएगा !

अर्थात राम मंदिर निर्माण का बिल” पास नहीं हो पाएगा !
जिससे राम मंदिर वाला” बिल कानून नहीं बनेगा !

😪सपा “बसपा” कांग्रेस तथा अन्य दल जो सेकुलर के नाम पर” इस बिल के विरोध में ही वोट करेंगी!

👉जैसे कि >><< तीन तलाक का मामला ही ले लीजिए!

✂भाजपा तीन तलाक के बिल को लोकसभा में “अपने दम पर पास करा ली!

लेकिन राज्यसभा में “भाजपा की बहुमत ना होने के कारण राज्यसभा में “तीन तलाक का बिल गिर गया !

जिससे तीन तलाक का बिल कानून नहीं बन सका !

🚩भाजपा को राज्य सभा में” 2019 के अंत तक “बहुमत होने की पूरी आशा है !

क्योंकि भारत के अधिकांश राज्यों में “भाजपा की सरकार बनी है !

जिस -जिस राज्य में “भाजपा की सरकार बनी है !
वहां पर “राज्यसभा की सीट खाली होने में अभी “2019 तक का समय लगेगा !

उसके बाद” उस राज्य की राज्य सभा सीट “पर
(राज्य सभा) सांसद” भाजपा का होगा !

🎠लेकिन उससे पहले” लोकसभा चुनाव में “भाजपा को अपने दम पर 272 सीटे ले कर पूर्ण बहुमत से जीतने के बाद ही” राज्यसभा में बहुमत का लाभ” भाजपा को मिल सकेगा !

👑राज्यसभा का चुनाव कैसे होता है आइए जाने >>><<<

भारत में 2 सदन होता है !

(1) लोकसभा (2) राज्यसभा

☝लोकसभा >><< लोकसभा का चुनाव” जनता सीधे अपने मत से करती है !

तथा जिस पार्टी के अधिक से अधिक सांसद जीतते हैं !
और बहुमत जिस पार्टी की होती है !
उसकी सरकार बनती हैं

जैसे >> वर्तमान में मोदी सरकार

✌राज्यसभा >>><< राज्यसभा का चुनाव जनता द्वारा “सीधे ना करके “जनता द्वारा चुने गए विधायक द्वारा होता है !

जिस भी पार्टी की” भारत के अधिक से अधिक राज्यों में सरकार होगी ”
उस पार्टी की राज्यसभा की सीट अधिक से अधिक होगी !

राज्यसभा संसद का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है !

🌹अतः सभी राज्य सभा की सीट” एक साथ रिक्त (खाली) नहीं होती हैं !

( राज्यसभा को उच्च सदन भी कहते हैं)

जैसे >><< उत्तर प्रदेश में राज्यसभा सांसद “की कुल 31 सीटें हैं !

लेकिन वर्तमान में” सिर्फ 10 ही सीट खाली हो रही हैं !

एक बार “जो भी पार्टी की”राज्यसभा की सीटें चुनने लायक विधायक है” तो राज्यसभा सांसद चुनने के बाद”
उस पार्टी की सरकार भी गिर जाए या सरकार की कार्यकाल की अवधि भी पूरा हो जाए !

लेकिन उस पार्टी के” विधायक द्वारा चुने गए” राज्यसभा सांसद” अपने 6 साल के “कार्यकाल को पूरा करने के बाद ही “वह राज्य सभा सीट खाली होगी !

जब वह सीट रिक्त होंगी !
और उस समय” जिसकी पार्टी की” सरकार होगी या जिसके विधायक अधिक होंगे !

वह पार्टी “उस सीट पर “अपना राज्य सभा “सांसद चुनकर भेजेगीं !

वर्तमान में( भाजपा 323”
सपा 57 “बसपा 19 “कांग्रेस 7 “आरएलडी के एक विधायक हैं)

🤝 वर्तमान में उत्तर प्रदेश की 31 में से 10 सीटें खाली हो रही हैं !

भाजपा व भाजपा के सहयोगी पार्टी के पास” उत्तर प्रदेश में “अपना कुल मिलाकर 323 विधायक हैं !

इस हिसाब से भाजपा “8 राज्य सभा सांसद “अपने विधायको के बल पर जीत लेगी !

8 राज्य सभा सांसद चुनने के पश्चात” भाजपा व उसके सहयोगी पार्टी के पास 28 अतिरिक्त विधायक बचेंगे !

यानी नौवें राज्य सभा सांसद चुनने के लिए”” भाजपा को 9 अतिरिक्त ( एक्स्ट्रा) विधायक की जरूरत होगी !

🚲सपा के पास” वर्तमान में 47 विधायक हैं !

अर्थात सपा 47 विधायक के दम पर “एक राज्यसभा सांसद आसानी से चुन सकती है !

राज्य सभा सांसद चुनने के पश्चात “”सपा के पास 10 अतिरिक्त विधायक बचेंगे!

🐘बसपा के पास” इस समय 19 विधायक हैं !

इस हिसाब से” मायावती अपने विधायक के बल पर “एक भी राज्य सभा सांसद नहीं चुन सकती हैं !

इसलिए मायावती ने “सपा “बसपा “कांग्रेस “आरएलडी से समर्थन मांगी है

अगर सपा के 10 विधायक
(जो अतिरिक्त बचे हैं )

सपा के 10 “बसपा के 19
कांग्रेस के 7 तथा आरएलडी के एक विधायक मिलकर 37 का आंकड़ा पार कर लेंगे !

जिससे मायावती की पार्टी “को भी एक राज्य सभा सांसद मिल जाएग!

भाजपा अतिरिक्त “8 विधायकों की “व्यवस्था नहीं कर पा रही है

लेकिन बसपा 18 विधायक का समर्थन पा रही है !

⛲इसी प्रकार “भारत के सभी राज्यों में “राज्यसभा का चुनाव होता है !

🇮🇳भारत में जो भी पार्टी ” हिंदुत्व की बात करेगा !
वह पार्टी “संप्रदायिक हो जाती है !
जैसे >><< भाजपा

🍏जो भी पार्टी “मुस्लिम तुष्टिकरण करेंगी !
वह सेकूलर हो जाती हैं!

जैसे <<>> सपा “बसपा” कांग्रेस

सभी पार्टी “भाजपा को संप्रदायिक कह कर “भाजपा पार्टी” साथ कोई नहीं देंगी!

🌹 राज्यसभा में कुल 225 सीटें हैं !
वर्तमान में भाजपा के पास 75 सीटें हैं !
जो बहुमत से कम हैं ”

बहुमत के लिए “”राज्य सभा में 112 राज्य सभा सांसद होना चाहिए !

🐵राज्य सभा कभी “भंग नहीं होता है !

6 महीने या साल भर” के अंदर किसी ना किसी “राज्य मे राज्य सभा सांसद “”की सीट
रिक्त (खाली )होती रहती हैं!

#Copy#

Author:

Hello, Harshad Ashodiya I have 12,000 Hindi, Gujarati ebooks