Posted in Uncategorized

आओ … आज एक कहानी सुनाता हूँ !

               🚣‍🚣‍🚣‍🚣‍🚣‍

👉 एक बिजनेसमैन सुबह जल्दी में …
     घर से बाहर आकर अपनी कार का
               दरवाजा खोलता है !
तभी .. पास बैठे एक आवारा कुत्ते पर
               उसका पैर पड़ जाता है !
         कुत्ता उस पर झपटता है , और
          उसके पैर में दाँत गड़ा देता है !
🐕
     गुस्से में आकर वो 10-12 पत्थर
        कुत्ते को मारता है , लेकिन …
   एक भी पत्थर कुत्ते को नहीं लगता ,
      और …. कुत्ता भाग जाता है !

        अपने ऑफिस में पहुँचकर …
   वो ऑफिस के सभी पदाधिकारियों की
   मीटिंग बुलाता है , और कुत्ते का गुस्सा
                उन पर उतारता है !

अपने बॉस का जबरन का गुस्सा झेलकर
    अधिकारी भी परेशान हो जाते हैं !
  सारे अधिकारी अपना गुस्सा अपने से
निचले स्तर के कर्मचारियों पर उतारते हैं ,
  और इस प्रकार गुस्से का ये दमन चक्र
       सबसे निचले स्तर के कर्मचारी
         चपरासी तक पहुँचता है !

   अब चपरासी के नीचे तो कोई है नहीं ,
   इसलिए .. वो अपना गुस्सा दारू पर
   उतारता है , और पीकर घर जाता है !

     बीवी दरवाजा खोलती है , और
      शिकायती लहजे में बोलती है ~
           इतनी देर से आए ?

चपरासी … बीवी को एक झापड़ …
            लगा देता है , और बोलता है ~
   मैं ऑफिस में कंचे खेल रहा था क्या ?
         काम था मुझे ऑफिस में !
   अब भेजा मत खा और खाना लगा !

        अब बीवी भुनभुनाती है कि …
           बिना कारण चाँटा खाया !
   वो अपना गुस्सा बच्चे पर उतारती है ,
  और … उसकी पिटाई कर देती है !
           अब बच्चा क्या करे ?
  वो गुस्से में घर से बाहर चला जाता है !

💥 और …….

💥 और ……..

💥  और  ………

    बच्चा …एक पत्थर उठाता है , और
  सामने से गुजरते एक कुत्ते को मारता है !
_पत्थर लगते ही … कुत्ता बिलबिलाता …_
      काऊँ काऊँ करता भागता है !
  मित्रों ! ये वही सुबह वाला कुत्ता था !!!

            🚣‍🚣‍🚣‍🚣‍🚣‍

        उसे तो पत्थर लगना ही था ,
        बिजनेसमैन वाला नहीं लगा ….
              बच्चे वाला लगा !
      उसका सर्कल कम्पलीट हुआ !

इसलिए … आप कभी भी चिंता ना करें !
अगर किसी ने आपको परेशान किया है ,
तो उसे पत्थर लगेगा •• अवश्य लगेगा ••
            ••  बराबर लगेगा  ••

👉  निष्कर्ष –>

   आप निश्चिन्त रहो !
      आपका बुरा करने वाले का ….
          बुरा अवश्य ही होगा !
              गुस्सा मत करो !
लेकिन ….
अगर आपने किसी का बुरा किया है , और
        अभी खुश हैं , तो … मित्र !
       आपका नुकसान जरूर होगा !
बस … समय का चक्र पूरा होने दो !
           यही सृष्टि का नियम है !
          इसका कोई अपवाद नहीं है !

Author:

Buy, sell, exchange old books

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s