Posted in बॉलीवुड - Bollywood

रानी पद्मावती – जलती रही जौहर में नारियॉं, भेड़िये फिर भी मौन थे !


जलती रही जौहर में नारियॉं, भेड़िये फिर भी मौन थे !
हमे पढ़ाया अकबर महान, तो फिर ‘#महाराणा’ कौन थे ?

क्या वो नहीं महान जो बड़ी-बड़ी सेनाओं पर चढ़ जाता था !
या फिर वो महान था जो सपने में प्रताप को देख डर जाता था !!

रणभूमि में जिनके हौसले दुश्मनों पर भारी पड़ते थे !
ये वो भूमि है जहॉ पर नरमुण्ड घण्टो तक लड़ते थे !!

रानियों का सौन्दर्य सुनकर वो वहसी कई बार यहाँ आए !
धन्य थी वो स्त्रियाँ,जिनकी अस्थियाँ तक छू नहीं पाए !!

अपने सिंहो को वो सिंहनिया फौलाद बना देती थी !
जरुरत जब पड़ती,काटकर शीश थाल सजा देती थी !!

पराजय जिनको कभी सपने में भी स्वीकार नही थी !
अपने प्राणों को मोह करे,वो पीढी इतनी गद्धार नहीं थी !!

वो दुश्मनों को पकड़कर निचोड़ दिया करते थे !
पर उनकी बेगमों को भी माँ कहकर छोड़ देते थे !!

तो सुनो यारों एेसे वहशी दरिन्दो का जाप मत करो !
वीर सपूतों को बदनाम करने का पाप अब मत करो !!

Author:

Buy, sell, exchange old books

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s