Posted in हिन्दू पतन

भारत में मौजूद दलित संगठनो और दलित एक्टिविस्टो के पाखंड को देखिये .


भारत में मौजूद दलित संगठनो और दलित एक्टिविस्टो के पाखंड को देखिये …

जब महादलित बंजारा समुदाय के डीजी बंजारा नौ साल जेल में रहने के बाद एक साल से गुजरात में प्रवेश की शर्त हटने पर अपने घर लौटे तो किसी भी दलित नेता ने उनसे मुलाकात नही की |

जेल में रहने के दौरान डीजी बंजारा ने अपनी जीवनी लिखी थी ..जिसे पढकर आँखों में आंसू आ जाते है … बंजारा एक घुमन्तु [विचरती] जनजाति है ..जिनका कोई घर नही होता ये पुरे देश में इधर से उधर भ्रमण करते रहते है और कही भी जगह देखकर तम्बू बनाकर रहते है .. इनका बचपन ऐसे ही घूमते गुजरा .. फिर इन्होने एक बार सड़क के किनारे एक बच्चे को पढ़ते देखा ..फिर इनके मन में पढने की इच्छा हुई .. और इन्होने सरकारी प्राथमिक स्कुल में पढाई की .. दोनों भाई पढने में काफी तेज थे .. डीजी बंजारा आईपीएस बने और इनके भाई गुजरात सिविल सेवा के अधिकारी बने .. जो रिटायर होने के बाद गुजरात हाईकोर्ट में वकील बने ,.ये अपने भाई को जेल से निकालने के लिए ही एलएलबी करके वकील बने … डीजी बंजारा की बेटी सिविल सेवा में अधिकारी है और भतीजी मन्जिता बंजारा आइपीएस है जो इस समय अहमदाबाद की डीसीपी है …

सोचिये … पिता के जेल में रहने के दौरान बंजारा की बेटी और भतीजी ने सिविल सेवा पास किया … इनके उपर कितना मानसिक तनाव होगा ..फिर भी इन्होने अपने लक्ष्य में अपने तनाव को नही आने दिया ..

इस खानदान की कहानी किसी भी दलित ही नही बल्कि हम सबके लिए प्रेरणा है …

लेकिन डीजी बंजारा केस में दलितों के स्वम्भू ठेकेदारो का गंदा सच उजागर हो गया है .. इस देश के ज्यादातर दलित ठेकेदारों को विदेशी संस्थाओ ने विरोध करने के एवज में पैसे मिलते है .. दिलीप चू मंडल जैसे दलित ठेकेदार जो सलेक्टिव विरोध करता है .. यानी लाभ और हानि को तराजू पर तौलने के बाद | इतने सालो तक बंजारा जेल में रहे न तो मायावती ने इनके रिहाई की आवाज उठाई न ही केजरीवाल ने …

असल में भारत के दोगले दलित ठेकेदारों के लिए सिर्फ वही दलित है जो हिंदुत्व को गाली दे .. जो हिन्दू देवी देवताओ को गाली दे ..

Posted in बॉलीवुड - Bollywood

बॉलीवुड


​भारत को आखिर बॉलीवुड  ने कैसे फिल्मो का इस्लामिकरण किया है   ?

बॉलीवुड ने भारत को इतना सब  कुछ दिया है, तभी तो आज देश यहाँ है …

1. बलात्कार गैंग रेप करने के तरीके।

2. विवाह किये बिना लड़का लड़की का शारीरिक सम्बन्ध बनाना।

3. विवाह के दौरान लड़की को मंडप से भगाना

4. चोरी डकैती करने के तरीके।

5. भारतीय संस्कारो का उपहास उठाना।

6. लड़कियो को छोटे कपडे पहने की सीख देना…. जिसे फैशन का नाम देना।

7. दारू सिगरेट चरस गांजा कैसे पिया और लाया जाये।

8. गुंडागर्दी कर के हफ्ता वसूली करना।

9. भगवान का मजाक बनाना और अपमानित करना।

10. पूजा पाठ यज्ञ करना पाखण्ड है व नमाज पढ़ना ईश्वर की सच्ची पूजा है।

11. भारतीयों को अंग्रेज बनाना।

12. भारतीय संस्कृति को मूर्खता पूर्ण बताना और पश्चिमी संस्कृति को श्रेष्ठ बताना।

13. माँ बाप को वृध्दाश्रम छोड़ के आना।

14. गाय पालन को मज़ाक बनाना और कुत्तों को उनसे श्रेष्ठ बताना और पालना सिखाना।

15. रोटी हरी सब्ज़ी खाना गलत बल्कि रेस्टोरेंट में पिज़्ज़ा बर्गर कोल्ड ड्रिंक और नॉन वेज  खाना श्रेष्ठ है।

16. चोटी रखना या यज्ञोपवित्र पहनना मूर्खता और मजाकीय है पर मूस्लिम टोपी पहनना से आप सभ्य लगते है।

17. शुद्ध हिन्दी या संस्कृत बोलना हास्य वाली बात है। और अंग्रेजी बोलना सभ्य पढ़ा-लिखा और अमीरी वाली बात…
हमारे देश की युवा पीढ़ी बॉलीवुड को और उसके अभिनेता और अभिनेत्रियों का अपना आदर्श मानती है…..अगर यही बॉलीवुड देश की संस्कृति सभ्यता दिखाए ..तो यकीन मानिये हमारी युवा पीड़ी अपने रास्ते से कभी नही भटकेगी…समझिये..जानिए औए आगे बढिए…

– विश्वजीत सिंह अनन्त

राष्ट्रीय अध्यक्ष

भारत स्वाभिमान दल

सनातन संस्कृति संघ का सहयोगी संगठन

  

🚩सनातन संस्कृति संघ ट्रस्ट, सनातन धर्म- संस्कृति व स्वदेशी के प्रचार- प्रसार के लिए कार्यरत संगठन |

स्वदेशी स्वाभिमान, राष्ट्र- धर्म, संस्कृति की रक्षा व सम्वर्धन, गौ आधारित अर्थव्यवस्था एवं गुरुकुल शिक्षा व्यवस्था की पुनर्स्थापना के लिए सनातन संस्कृति संघ के सदस्य बने |

मनु कुमार

🚩