Posted in कविता - Kavita - કવિતા

नींद


कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं, जो शब्दों में बखान नहीं होते,
थाली सोने की हो, या केले के पत्ते की,
माँ के हाथों के बिना, उसमे स्वाद नहीं होती।
हम कितना भी कमा लें पैसों – पे – पैसा,
और एक – से – एक बिस्तर लगालें,
मगर वो सुकून नहीं मिलती।
जो नींद आती थी पुवाल पे गावं में अपने,
वो अब इन हसीनाओं के गोद में नहीं मिलती।

परमीत सिंह धुरंधर

Posted in छोटी कहानिया - १०,००० से ज्यादा रोचक और प्रेरणात्मक

एक दोस्त के साथ मेरा झगड़ा हो गया…


एक दोस्त के साथ मेरा झगड़ा हो गया…

मुझे गुस्सा आया और मैंने उसका नम्बर मोबाइल से डिलीट कर दिया..

पर उस दोस्त ने कुछ समय बाद मेरे बीमार होने पर मेसेज भेजा….

दोस्त कैसी हो? तबीयत का ध्यान रखना..

मेरे पास नम्बर नहीं था.. मैने सोचा और उस नम्बर पर मेसेज किया

I am fine !
Who are you.

तुरंत उसका फोन 📱 आया, और मुझ पर गुस्सा करने लगी..

क्यों रे idiot
तुझे हाउ (how) का स्पेलिंग
ठीक से लिखना नहीं आता क्या?

how की जगह who
टाइप किया.
ठीक हो जा फिर तुझे English सिखाती हूँ .

मैं सोचने लगी कि कितनी बड़ी Mistake हो गई… .

दोस्ती एेसे तोड़ी नहीं जाती
दोस्त एेसे नाराज भी नही होते

जो सच्चे दोस्त होते हैं..
वो गलत मेसेज का भी अच्छा मतलब निकाल लेते हैं