Posted in गौ माता - Gau maata

पंचगव्य का उपयोग


भाई राजीव दिक्षीत
नियमीत रुपसे शरीर श्रम करना ::-
स्त्री के लिए शरीर श्रम :- घर में चटनी हात से खलबत्ते में बनाना, रोटी बनाना, कपडे धोना, जाता चलाना, दिन में 15 मिनट जाता चलाने से स्त्री के गर्भाशय का व्यायाम होता है I
पुरुष के लिए शरीर श्रम :- खेत में नांगर चलाना, जिन्हें नांगर चलाना संभव नहीं उन्हें सिडीया चढना और उतरना, ज्यादा से ज्यादा पैदल चलना 5-7 किलोमीटर यह श्रम करने चाहीए I
आयुर्वेदिक घरगुती उपाय
1) कच्चे लहसुन की 1-2 कली पिसकर प्रात:काल चाटने से उच्चरक्तदाब सामान्य होता है I
2) नारीयल पाणी में जीरा मिलाकर पिने से अतीसार में आराम मिलता है I
3) जुकाम में कच्चा प्याज काटकर खाने से नाक बहना बंद होता है I
4) निम की निंबोली खुन की खराबी को पूरी तरह से ठीक करती है I
5) खीर खाने से पित्त कम होता है I
पंचगव्य का उपयोग
1) गोमूत्र पित्ताशय (लीव्हर) को ठिक कर रक्त की शुध्दी करता है I
2) लाल, पिली देसी गाय का दूध पित्त नाशक होता है I
3) शक्कर मिला हुआ दही पिणे से रक्तदोष का नाश होता है I
4) माइग्रेन होनेपर देसी गाय का घी रामबाण इलाज है I
5) आग से जलजानेपर देसी गाय के गोबर का लेप लगायें आराम मिलेगा I
देसी गायीचे आजार
1) गोबर न करना या पतला करना I
2) आंखो का लाल हो जाना I
3) जल्दी-ज्दीला सांस लेना I
4) मूख सुखना I
5) मूख और नाक से पाणी गिरना I
शेतीचे महत्त्व ::–
भूमीची मशागत –
अमेरीकेतील संशोधनाने हे सिध्द केले आहे की, बैलाच्या श्वासोच्छश्वासाने पिकांचा दर्जा सुधारतो, तसेच ट्रॅक्टरने फक्त जमीनीत वरच्यावर फक्त कोरीव काम होते व खणलेली माती पुन्हा तिथेच टाकली जाते.
बैलाने केलेली नांगरणी अधीक श्रेष्ठ आहे. कारण यामध्ये ही खणलेली/उकरलेली माती बरोबर सरीच्या एकाच बाजुला टाकली जाते.
आपको कोई शारीरिक प्रोब्लेम हो तो Whats app पर कॉन्टॉक्ट करें 9922144444
www.krishnapriyagoshala.org

Krishnapriya Goshala's photo.
Krishnapriya Goshala's photo.
Krishnapriya Goshala's photo.

Author:

Buy, sell, exchange old books

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s