Posted in Rajiv Dixit

अंग्रेजोने देश में ३० विश्वविद्यालय खोले थे देश को गुलाम बनाने केलिए


अंग्रेजोने देश में ३० विश्वविद्यालय खोले थे देश को गुलाम बनाने केलिए !अंग्रेजो के गुलामोने आजादी के बाद ७०० से ज्यादा विष्व विद्यालय खोले है इनमे कितने भारतीय भाषा में शिक्षा प्रदान कर रहे है ?दुनिया के उन्नत ५०० विष्व विद्यालय में भारत का कोई वि वि नहीं है क्यों की विदेशी भाषा में शिक्षा देने वाले वि वि को पागल खाने माना जाता है !दुनिया के सभी उन्नत वि वि अपनी देश के भाषा में शिक्षा प्रदान करते है !भारत के हर आदमी का सालाना आय १३०० डालर है वो विक्सित देशो में ४०००० डालर से भी ज्यादा है जहा शिक्षा मातृभाषा में है !दुनिया के 33% गरीब भारत मे रेहते है !दुनिया के 37% अशिक्षित ओर 60% शोचालय इस्तेमाल न करनेवाले भारत मे पायेजाते है !फिर भी हमारे अंग्रेज़ी शिक्षा पानेवाले बेवकूफ भारत एक सुपर पॉवर बनने का सपना दिखा रहे है !असलियत ए है के विदेशी भाषा पर निर्भर देश हमेशा गरीब ही रेहते है वो कभीभि विकसित देश नही बनते !दुनिया के सभी विकसित देश अपनी भाषा मे सीकते है इसीलिये वो विकसित देश है !अंग्रेज़ी नही होता तो भारत भी एक विकसित देश बनचुका होता ! आम आदमी को ग़ुलामी मे रखने के मकसद से ही ग़ुलामी की शिक्षा को अघे बढ़ायागया ! गोरे अंग्रेज चलेगये और काले अंग्रेज आगये देश पर हुकूमत करने केलिए आम आदमी तो गुलामी में ही है ! इस देश मे काम करने केलिये फिरगियोंकि भाषा बोलना पड़ता है !
कांग्रेस्स ने आजादी के बाद भी अंग्रेज़ी शिक्षा को आगे बड़ाते हुवे भारत को एक ब्रिटिश कॉलोनी के रूप मे बरकरार रखा इसीलिये भारत दुनिया मे सबसे गरीब देश बांके रेहगया

अंग्रेजोने देश में ३० विश्वविद्यालय खोले थे देश को गुलाम बनाने केलिए !अंग्रेजो के गुलामोने आजादी के बाद ७०० से ज्यादा विष्व विद्यालय खोले है इनमे कितने भारतीय भाषा में शिक्षा प्रदान कर रहे है ?दुनिया के उन्नत ५०० विष्व विद्यालय में भारत का कोई वि वि नहीं है क्यों की विदेशी भाषा में शिक्षा देने वाले वि वि को पागल खाने माना जाता है !दुनिया के सभी उन्नत वि वि अपनी देश के भाषा में शिक्षा प्रदान करते है !भारत के हर आदमी का सालाना आय १३०० डालर है वो विक्सित देशो में ४०००० डालर से भी ज्यादा है जहा शिक्षा मातृभाषा में है !दुनिया के 33% गरीब भारत मे रेहते है !दुनिया के 37% अशिक्षित ओर 60% शोचालय इस्तेमाल न करनेवाले भारत मे पायेजाते है !फिर भी हमारे अंग्रेज़ी शिक्षा पानेवाले बेवकूफ भारत एक सुपर पॉवर बनने का सपना दिखा रहे है !असलियत ए है के विदेशी भाषा पर निर्भर देश हमेशा गरीब ही रेहते है वो कभीभि विकसित देश नही बनते !दुनिया के सभी विकसित देश अपनी भाषा मे सीकते है इसीलिये वो विकसित देश है !अंग्रेज़ी नही होता तो भारत भी एक विकसित देश बनचुका होता ! आम आदमी को ग़ुलामी मे रखने के मकसद से ही ग़ुलामी की शिक्षा को अघे बढ़ायागया ! गोरे अंग्रेज चलेगये और काले अंग्रेज आगये देश पर हुकूमत करने केलिए आम आदमी तो गुलामी में ही है ! इस देश मे काम करने केलिये फिरगियोंकि भाषा बोलना पड़ता है !
कांग्रेस्स ने आजादी के बाद भी अंग्रेज़ी शिक्षा को आगे बड़ाते हुवे भारत को एक ब्रिटिश कॉलोनी के रूप मे बरकरार रखा इसीलिये भारत दुनिया मे सबसे गरीब देश बांके रेहगया

Author:

Buy, sell, exchange books

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s