Posted in रामायण - Ramayan

भगवान श्री राम जी का वंश


भगवान श्री राम जी का वंश
ब्रह्मा की उन्चालिसवी पीढ़ी में श्रीराम का जन्म हुआ.

हिंदू धर्म में राम को विष्णु का सातवाँ अवतार माना जाता है।
वैवस्वत मनु के दस पुत्र थे – इल, इक्ष्वाकु, कुशनाम, अरिष्ट, धृष्ट, नरिष्यन्त,करुष, महाबली, शर्याति और पृषध।

राम का जन्म इक्ष्वाकु के कुल में हुआ था।

जैन धर्म के तीर्थंकर निमि भी इसी कुल के थे।

मनु के दूसरे पुत्र इक्ष्वाकु से विकुक्षि,
निमि और दण्डक पुत्र उत्पन्न हुए।
इस तरह से यह वंश परम्परा चलते-चलते
हरिश्चन्द्र, रोहित, वृष, बाहु और सगरतक पहुँची।
इक्ष्वाकु प्राचीन कौशल देश के राजा थे और इनकी राजधानी अयोध्या थी।
रामायण के बालकांड में गुरु वशिष्ठजी द्वारा राम के कुल का वर्णन किया गया है जो इस प्रकार है
१ – ब्रह्माजी से मरीचि हुए।

२ – मरीचि के पुत्र कश्यप हुए।

३ – कश्यप के पुत्र विवस्वान थे।

४ – विवस्वान के वैवस्वत मनु हुए.वैवस्वत मनु के समय जल प्रलय हुआ था।

५ – वैवस्वतमनु के दस पुत्रों में से एक का नाम इक्ष्वाकु था।
इक्ष्वाकु ने अयोध्या को अपनी राजधानी बनाया और इस प्रकार इक्ष्वाकु कुलकी स्थापना की।

६ – इक्ष्वाकु के पुत्र कुक्षि हुए।

७ – कुक्षि के पुत्र का नाम विकुक्षि था।

८ – विकुक्षि के पुत्र बाण हुए।

९ – बाण के पुत्र अनरण्य हुए।

१०- अनरण्य से पृथु हुए

११- पृथु से त्रिशंकु का जन्म हुआ।

१२- त्रिशंकु के पुत्र धुंधुमार हुए।

१३- धुन्धुमार के पुत्र का नाम युवनाश्व था।

१४- युवनाश्व के पुत्र मान्धाता हुए।

१५- मान्धाता से सुसन्धि का जन्म हुआ।

१६- सुसन्धि के दो पुत्र हुए- ध्रुवसन्धि एवं प्रसेनजित।

१७- ध्रुवसन्धि के पुत्र भरत हुए।

१८- भरत के पुत्र असित हुए।

१९- असित के पुत्र सगर हुए।

२०- सगर के पुत्र का नाम असमंज था।

२१- असमंज के पुत्र अंशुमान हुए।

२२- अंशुमान के पुत्र दिलीप हुए।

२३- दिलीप के पुत्र भगीरथ हुए।

भगीरथ ने ही गंगा को पृथ्वी पर उतरा था.भगीरथ के पुत्र ककुत्स्थ थे।

२४- ककुत्स्थ के पुत्र रघु हुए।

रघु के अत्यंत तेजस्वी और पराक्रमी नरेश होने केकारण उनके बाद इस वंश का नाम रघुवंश हो गया,तब राम के कुल को रघुकुलभी कहा जाता है।

२५- रघु के पुत्र प्रवृद्ध हुए।

२६- प्रवृद्ध के पुत्र शंखण थे।

२७- शंखण के पुत्र सुदर्शन हुए।

२८- सुदर्शन के पुत्र का नाम अग्निवर्ण था।

२९- अग्निवर्ण के पुत्र शीघ्रग हुए।

३०- शीघ्रग के पुत्र मरु हुए।

३१- मरु के पुत्र प्रशुश्रुक थे।

३२- प्रशुश्रुक के पुत्र अम्बरीष हुए।

३३- अम्बरीष के पुत्र का नाम नहुष था।

३४- नहुष के पुत्र ययाति हुए।

३५- ययाति के पुत्र नाभाग हुए।

३६- नाभाग के पुत्र का नाम अज था।

३७- अज के पुत्र दशरथ हुए।

३८- दशरथ के चार पुत्र राम, भरत, लक्ष्मण तथा शत्रुघ्न हुए।

इस प्रकार ब्रह्मा की उन्चालिसवी पीढ़ी में श्रीराम का जन्म हुआ.

श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्।
नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम।

कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुन्दरम। पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम।

भजु दीन बंधू दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम।
रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नन्दनम ।

सिर मुकुट कुण्डल तिलक चारु उदारू अंग विभुषणं।
आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर – धुषणं।

इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम।
मम हृदय कुंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम।

मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरु सहज सावरों।
करुना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो।

एही भाँती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली।
तुलसी भवानी पूजी पूनी पूनी मुदित मन मन्दिर चली।

जानी गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाए कहीं।
मंजुल मंगल मूल बाम अंग फ़र्क़न लगे।

जानि गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाइ कहि।
मंजुल मंगल मूल वाम अंग फरकन लगे ।

राम से बड़ा राम का नाम !!!

भगवान श्री राम जी का वंश ब्रह्मा की उन्चालिसवी पीढ़ी में श्रीराम का जन्म हुआ. हिंदू धर्म में राम को विष्णु का सातवाँ अवतार माना जाता है। वैवस्वत मनु के दस पुत्र थे - इल, इक्ष्वाकु, कुशनाम, अरिष्ट, धृष्ट, नरिष्यन्त,करुष, महाबली, शर्याति और पृषध। राम का जन्म इक्ष्वाकु के कुल में हुआ था। जैन धर्म के तीर्थंकर निमि भी इसी कुल के थे। मनु के दूसरे पुत्र इक्ष्वाकु से विकुक्षि, निमि और दण्डक पुत्र उत्पन्न हुए। इस तरह से यह वंश परम्परा चलते-चलते हरिश्चन्द्र, रोहित, वृष, बाहु और सगरतक पहुँची। इक्ष्वाकु प्राचीन कौशल देश के राजा थे और इनकी राजधानी अयोध्या थी। रामायण के बालकांड में गुरु वशिष्ठजी द्वारा राम के कुल का वर्णन किया गया है जो इस प्रकार है १ - ब्रह्माजी से मरीचि हुए। २ - मरीचि के पुत्र कश्यप हुए। ३ - कश्यप के पुत्र विवस्वान थे। ४ - विवस्वान के वैवस्वत मनु हुए.वैवस्वत मनु के समय जल प्रलय हुआ था। ५ - वैवस्वतमनु के दस पुत्रों में से एक का नाम इक्ष्वाकु था। इक्ष्वाकु ने अयोध्या को अपनी राजधानी बनाया और इस प्रकार इक्ष्वाकु कुलकी स्थापना की। ६ - इक्ष्वाकु के पुत्र कुक्षि हुए। ७ - कुक्षि के पुत्र का नाम विकुक्षि था। ८ - विकुक्षि के पुत्र बाण हुए। ९ - बाण के पुत्र अनरण्य हुए। १०- अनरण्य से पृथु हुए ११- पृथु से त्रिशंकु का जन्म हुआ। १२- त्रिशंकु के पुत्र धुंधुमार हुए। १३- धुन्धुमार के पुत्र का नाम युवनाश्व था। १४- युवनाश्व के पुत्र मान्धाता हुए। १५- मान्धाता से सुसन्धि का जन्म हुआ। १६- सुसन्धि के दो पुत्र हुए- ध्रुवसन्धि एवं प्रसेनजित। १७- ध्रुवसन्धि के पुत्र भरत हुए। १८- भरत के पुत्र असित हुए। १९- असित के पुत्र सगर हुए। २०- सगर के पुत्र का नाम असमंज था। २१- असमंज के पुत्र अंशुमान हुए। २२- अंशुमान के पुत्र दिलीप हुए। २३- दिलीप के पुत्र भगीरथ हुए। भगीरथ ने ही गंगा को पृथ्वी पर उतरा था.भगीरथ के पुत्र ककुत्स्थ थे। २४- ककुत्स्थ के पुत्र रघु हुए। रघु के अत्यंत तेजस्वी और पराक्रमी नरेश होने केकारण उनके बाद इस वंश का नाम रघुवंश हो गया,तब राम के कुल को रघुकुलभी कहा जाता है। २५- रघु के पुत्र प्रवृद्ध हुए। २६- प्रवृद्ध के पुत्र शंखण थे। २७- शंखण के पुत्र सुदर्शन हुए। २८- सुदर्शन के पुत्र का नाम अग्निवर्ण था। २९- अग्निवर्ण के पुत्र शीघ्रग हुए। ३०- शीघ्रग के पुत्र मरु हुए। ३१- मरु के पुत्र प्रशुश्रुक थे। ३२- प्रशुश्रुक के पुत्र अम्बरीष हुए। ३३- अम्बरीष के पुत्र का नाम नहुष था। ३४- नहुष के पुत्र ययाति हुए। ३५- ययाति के पुत्र नाभाग हुए। ३६- नाभाग के पुत्र का नाम अज था। ३७- अज के पुत्र दशरथ हुए। ३८- दशरथ के चार पुत्र राम, भरत, लक्ष्मण तथा शत्रुघ्न हुए। इस प्रकार ब्रह्मा की उन्चालिसवी पीढ़ी में श्रीराम का जन्म हुआ. श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्। नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम। कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुन्दरम। पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम। भजु दीन बंधू दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम। रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नन्दनम । सिर मुकुट कुण्डल तिलक चारु उदारू अंग विभुषणं। आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर - धुषणं। इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम। मम हृदय कुंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम। मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरु सहज सावरों। करुना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो। एही भाँती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली। तुलसी भवानी पूजी पूनी पूनी मुदित मन मन्दिर चली। जानी गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाए कहीं। मंजुल मंगल मूल बाम अंग फ़र्क़न लगे। जानि गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाइ कहि। मंजुल मंगल मूल वाम अंग फरकन लगे । राम से बड़ा राम का नाम !!!
Posted in Secular

असली नास्तिक सेकुलर हिन्दू ,


असली नास्तिक सेकुलर हिन्दू ,
.
सेकुलर हिन्दू प्राणियों की एक ऐसी प्रजाति है ,
जिनमेँ अनेकों प्राणियों गुण पाए जाते हैं .
.
गिरगिट की तरह रंग बदलना ,
लोमड़ी की तरह मक्कारी ,
कुत्तों की तरह अपने ही लोगों पर भोंकना ,
अजगर की तरह दूसरों का माल हड़प कर लेना .
और सांप की तरह धोके से डस लेना .
.
इसलिए ऐसे प्राणी को मनुष्य समझना बड़ी भारी भूल होगी .
.
ऐसे लोग पाखंड और ढोंग के साक्षात अवतार होते हैं .
दिखावे के लिए ऐसे लोग सभी धर्मों को मानने का नाटक करते हैं, लेकिन
वास्तव में इनको धर्म या ईश्वर से कोई मतलब नहीं होता .
.
अपने स्वार्थ के लिए यह लोग ईश्वर को भी बेच सकते हैं .
ना यह किसी को अपना सगा मानते है .
और न कोई बुद्धिमान इनको अपना सगा मानने की भूल करे .
.
वास्तव में आजकल के सेकुलर हिन्दू ही नास्तिक हैं . बौद्ध और जैन नहीं .
.
मुलायम सिंह , लालू प्रसाद , दिग्विजय सिंह ,स्वामी अग्निवेश और अधिकांश कांग्रेसी,
सेकुलर हिन्दू – नास्तिक है,..
.
और,…. अब भाजपा मेँ भी कुछ पनप रहे हैँ.!
.
राज शर्मा ..

असली नास्तिक सेकुलर हिन्दू , . सेकुलर हिन्दू प्राणियों की एक ऐसी प्रजाति है , जिनमेँ अनेकों प्राणियों गुण पाए जाते हैं . . गिरगिट की तरह रंग बदलना , लोमड़ी की तरह मक्कारी , कुत्तों की तरह अपने ही लोगों पर भोंकना , अजगर की तरह दूसरों का माल हड़प कर लेना . और सांप की तरह धोके से डस लेना . . इसलिए ऐसे प्राणी को मनुष्य समझना बड़ी भारी भूल होगी . . ऐसे लोग पाखंड और ढोंग के साक्षात अवतार होते हैं . दिखावे के लिए ऐसे लोग सभी धर्मों को मानने का नाटक करते हैं, लेकिन वास्तव में इनको धर्म या ईश्वर से कोई मतलब नहीं होता . . अपने स्वार्थ के लिए यह लोग ईश्वर को भी बेच सकते हैं . ना यह किसी को अपना सगा मानते है . और न कोई बुद्धिमान इनको अपना सगा मानने की भूल करे . . वास्तव में आजकल के सेकुलर हिन्दू ही नास्तिक हैं . बौद्ध और जैन नहीं . . मुलायम सिंह , लालू प्रसाद , दिग्विजय सिंह ,स्वामी अग्निवेश और अधिकांश कांग्रेसी, सेकुलर हिन्दू - नास्तिक है,.. . और,.... अब भाजपा मेँ भी कुछ पनप रहे हैँ.! . राज शर्मा ..
Posted in भारतीय मंदिर - Bharatiya Mandir

According to archival records, Shivala Mandir


According to archival records, Shivala Mandir
was first erected by the Raja of Jammu in 1830, but the
Hindu community and locals say that the Shivling has
roots in Buddha’s time, or to 2,000 years ago—a claim
supported by academics and archaeologists. It is the
fourth largest Shivling in the world with a height of
eight feet: an imposing off-white rock structure rises to
a level of four feet above the ground and another four
feet remains underground. For this reason the temple
is considered a special teerath, attracting hundreds
of devotees from all over Pakistan, India and
Nepal on the days devoted to Shiva.

According to archival records, Shivala Mandir
was first erected by the Raja of Jammu in 1830, but the
Hindu community and locals say that the Shivling has
roots in Buddha’s time, or to 2,000 years ago—a claim
supported by academics and archaeologists. It is the
fourth largest Shivling in the world with a height of
eight feet: an imposing off-white rock structure rises to
a level of four feet above the ground and another four
feet remains underground. For this reason the temple
is considered a special teerath, attracting hundreds
of devotees from all over Pakistan, India and
Nepal on the days devoted to Shiva.

Posted in हिन्दू पतन

नवरात्रि


अब मैं समझा कि यह अल क़ायदा और ISIS पिछले कुछ दिनों से भारत के खिलाफ इतना ज़हर क्यों उगल रहे थे. तो यह है असली माजरा:
Breaking news: Bangladesh leader linked to ISIS held
The leader of the Jamayetul Mujahideen Bangladesh was arrested in raids
The police in Bangladesh said on Friday it had arrested the head of a banned Islamist group suspected of planning attacks in the country, and that he had made contact with the ISIS organisation.
A police spokesman said the leader of the Jamayetul Mujahideen Bangladesh group, Abdullah Al Tasnim, and six others were arrested early Friday in raids in Dhaka.
“Tasnim has established communication with the Middle East’s ISIS militants,” Monirul Islam said. “We have arrested him and his aides early today (Friday).”
The Islamic State of Iraq and the Levant (ISIS), now known as the Islamic State, is widely regarded as the most violent and powerful organisation in modern jihad and has captured large swathes of territory in Iraq and Syria.
Mr Islam said the police had recovered bomb-making materials in the raid, and that the detainees had confessed they were planning attacks.
The JMB was highly active around 2005 when it set off hundreds of bombs nationwide between August and December. It was also involved in spate of bombings on judges and courts, but had been relatively quiet since the then government launched a crackdown on the group and prosecuted more than 1,000 of its members.
In 2007 an Army-backed government hanged six JMB members, including its founder and leader Shaikh Abdur Rahman and his deputy.
But the organisation is since believed to have regrouped. In February, attackers ambushed a prison van in northern Mymensingh district and snatched three convicted JMB militants after killing a police officer.

अब मैं समझा कि यह अल क़ायदा और ISIS पिछले कुछ दिनों से भारत के खिलाफ इतना ज़हर क्यों उगल रहे थे. तो यह है असली माजरा:
Breaking news: Bangladesh leader linked to ISIS held
The leader of the Jamayetul Mujahideen Bangladesh was arrested in raids
The police in Bangladesh said on Friday it had arrested the head of a banned Islamist group suspected of planning attacks in the country, and that he had made contact with the ISIS organisation.
A police spokesman said the leader of the Jamayetul Mujahideen Bangladesh group, Abdullah Al Tasnim, and six others were arrested early Friday in raids in Dhaka.
“Tasnim has established communication with the Middle East’s ISIS militants,” Monirul Islam said. “We have arrested him and his aides early today (Friday).”
The Islamic State of Iraq and the Levant (ISIS), now known as the Islamic State, is widely regarded as the most violent and powerful organisation in modern jihad and has captured large swathes of territory in Iraq and Syria.
Mr Islam said the police had recovered bomb-making materials in the raid, and that the detainees had confessed they were planning attacks.
The JMB was highly active around 2005 when it set off hundreds of bombs nationwide between August and December. It was also involved in spate of bombings on judges and courts, but had been relatively quiet since the then government launched a crackdown on the group and prosecuted more than 1,000 of its members.
In 2007 an Army-backed government hanged six JMB members, including its founder and leader Shaikh Abdur Rahman and his deputy.
But the organisation is since believed to have regrouped. In February, attackers ambushed a prison van in northern Mymensingh district and snatched three convicted JMB militants after killing a police officer.
Posted in भारतीय मंदिर - Bharatiya Mandir

Historic Temples in Pakistan: A Call to Conscience


A book that records and celebrates some of the most antiquated symbols of faith, humanity and unity that  have defied Time and turbulent social currents to stand tall as testaments of a pluralistic past. Available across India and coming soon to Liberty books, Pakistan. Pls join the page Historic Temples in Pakistan: A Call to Conscience

A book that records and celebrates some of the most antiquated symbols of faith, humanity and unity that have defied Time and turbulent social currents to stand tall as testaments of a pluralistic past. Available across India and coming soon to Liberty books, Pakistan. Pls join the page Historic Temples in Pakistan: A Call to Conscience

Posted in कविता - Kavita - કવિતા

सुन ले बेटा पाकिस्तान। बाप है तेरा हिदुस्तान।।


सुन ले बेटा पाकिस्तान। बाप है तेरा हिदुस्तान।।

..बिलावल सुन .. बे   क..

बिना सिंध के हिन्द कहाँ है,रावी बिन पंजाब नहीं।
गंगा कैसे सुखी रहेगी,जब तक संग चिनाब नही।

लाहौर बिना तो संविधान की,अपनी बात अधूरी है।
बिना करांची कैसे कह दें,यह आज़ादी पूरी है।

आज़ादी का जश्न मनेगा,पेशावर की गलियों में।
तभी तो खुशबू आ पाएगी,काश्मीर की कलियों में।

दिल्ली तुझे कसम है अबकी,मत रोड़े अटकाना।
ताशकंद व शिमला जैसे,समझौते मत दोहराना।

वचन हमारा रणभूमि में,ऐसी तान बजायेंगे।
गाड़ तिरंगा सिन्धु तट पर,वन्दे मातरम गायेंगे।

साँप सपोलों ने दिल्ली को,आज पुन: ललकारा है।
घोंप कटारी कह दो उनको,पकिस्तान हमारा है।

Posted in AAP

केंद्र की कांग्रेस सरकार ने केजरीवाल की पत्नी’नीता केजरीवाल’को दिया प्रोमोशन..


केंद्र की कांग्रेस सरकार ने केजरीवाल की पत्नी’नीता केजरीवाल’को दिया प्रोमोशन..

दिमाग लगाओ अंधभक्तों यदि आँखे खोलकर सोचोगे तो समझ आयेगा यदि आँखे बंद करके चाटने की आदत पड़ चुकी है तो अलग बात है, जो केजरीवाल अपने को कांग्रेस के लिए खतरा बताता है उसकी बीवी को केंद्र सरकार ने पंद्रह सालों से दिल्ली से बहार क्यों नहीं जाने दिया ?

और क्या अब ये प्रोमोशन इस बात के लिए नहीं दिया गया है कि केजरीवाल गैंग ने चौथी बार दिल्ली में कांग्रेस की सरकार बनवाई है ?

आंखे खोल कर सोचेगे तो समझ आएगा यदि अंधभक्ति में लीन होने की आदत पड़ चुकी है तो भगवान भी तुम अंधभक्तों की आँखे नहीं खोल सकता,

Posted in हिन्दू पतन

श्री राम का जन्म स्थान तम्बू में – स्वीकार है


श्री राम का जन्म स्थान तम्बू में – स्वीकार है
कैलाश मानसरोवर जाने के लिए चीन की अनुमति -स्वीकार है
कश्मीर में अलग संविधान और अलग झंडा – स्वीकार है
सभी कश्मीरी पंडितो को अपनी जन्मभूमि से खदेड़ दिया गया – स्वीकार है
लाखो बोडो को आसाम में अपनि जन्मभूमि से खदेड़ दिया गया – स्वीकार है
वंदे मातरम की जगह जण-गण-मन(जोर्ज पंचम का स्वागत गीत) – स्वीकार है
संस्कृत की उपेक्षा और उर्दू का मान सम्मान – स्वीकार है
तेजोमहालय शिव मंदिर का ताजमहल कब्र रूप में – स्वीकार है
ध्रुव स्तंभ का क़ुतुब मीनार के रूप में – स्वीकार है
सनातन भारत को इंडिया के नाम से जाना जाए – स्वीकार है
पाचवी पास वेटर के द्वारा देश का नियंत्रण -स्वीकार है
पराठा बनाने वाली को राष्ट्रपति रूप में – स्वीकारहै
सुभाष चंद्र बोस की जिन्दा होने
की जानकारी छुपाने वाले वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी – स्वीकार है
डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का कश्मीर की जेल में
रहस्मय निधन, पोस्ट-मोर्टेम की जरुरत नहीं – स्वीकार है
भाई राजीव दीक्षित जी का रहस्मय निधन,
पोस्टमोर्टेम की जरुरत नहीं – स्वीकार है
लाल बहादुर शास्त्री जी का रहस्मय निधन,
पोस्ट-मोर्टेम की जरुरत नहीं – स्वीकार है
सुभाष चंद्र बोस आजादी के बाद १९८५ तक चुप
कर गुमनाम जिंदगी जीते रहे – स्वीकार है
चंद्रगुप्त सीरियल का रहस्यमय ढंग से बंद होना – स्वीकार है
शिवाजी सीरियल का रहस्यमय ढंग से बंद होना – स्वीकार है
पोर्न स्टार सनी लिओन की फिल्म का खुले आम प्रदर्शन – स्वीकार है
————— ————— ——-
भविष्य में :
कश्मीर का विभाजन – ?
आसाम का विभाजन – ?
केरल का विभाजन – ?
और क्या क्या स्वीकार करने वाले है हम भारतीय ?
बस अब बहुत हुआ स्वीकार अब सिर्फ हिंदुत्व की रक्षा होगी..
जय जय श्री राम

Posted in AAP

अब आर्कीमिडिज के सिधांत की जगह किताबो में केजरीवाल सिधांत पढ़ाया जायेगा …..


भाई ये कैसे सम्भव है ….????
विज्ञान पढ़ पढकर थक गया ……
लेकिन पता ही नही चला की
कोई गद्द्दा आखिर पानी में तैर कैसे सकता है …???
अब आर्कीमिडिज के सिधांत की जगह किताबो में
केजरीवाल सिधांत पढ़ाया जायेगा ……
हा…. हा…… हा ……
जब कोई गद्दा पानी में डाला जायेगा
तो वो पानी सोखकर और भारी हो जाएगा …..
उपर से गद्दा फ़्लैट होता है फिर ये
पानी पर कैसे तैरेगा …..?????
उपर से इस गद्दे से सहारे आम आदमी पार्टी ने
८५ लोगो की जान बचा ली …????
हे भगवान …….
दिमाग की दही बना दी सालो ने ……
copied

भाई ये कैसे सम्भव है ....????
विज्ञान पढ़ पढकर थक गया ......
लेकिन पता ही नही चला की
कोई गद्द्दा आखिर पानी में तैर कैसे सकता है ...???
अब आर्कीमिडिज के सिधांत की जगह किताबो में
केजरीवाल सिधांत पढ़ाया जायेगा ......
हा.... हा...... हा ......
जब कोई गद्दा पानी में डाला जायेगा
तो वो पानी सोखकर और भारी हो जाएगा .....
उपर से गद्दा फ़्लैट होता है फिर ये
पानी पर कैसे तैरेगा .....?????
उपर से इस गद्दे से सहारे आम आदमी पार्टी ने
८५ लोगो की जान बचा ली ...????
हे भगवान .......
दिमाग की दही बना दी सालो ने ......
copied
Posted in AAP

Supreme Court terms all coal block allocations since 1992 illegal.


Supreme Court terms all coal block allocations since 1992 illegal.Congratulations the PIL warrior Prashant Bhushan ! The Braveheart son of motherland “Bharat” .Jai Hind !
सलमान खुर्शीद से लेकर श्री रविशंकर प्रसाद तक और कपिल सिब्बल से लेकर राम जेठमलानी तक हर कांग्रेसी और भाजपाई वकील फीस लेकर मुक़दमे लड़ता रहा है ! कभी रिलायंस के तो कभी सहारा के ! कभी श्रीमती इंदिरा गांधी के हत्यारों को बचाने के लिए तो कभी एस्सार को सरकारी फायदा दिलाने के लिए ! पर एक और बड़े वकील हैं प्रशांत भूषण ! बड़े वकील पिता के काबिल बेटे ! बरसों से कोई मुकदमा फीस के लिए नहीं लड़ा,न किसी से कोई फीस ली ! दर्ज़नो मुकदमों में भारतमाता की ज़मीन,जंगल,जल और प्राकृतिक साधन नीच राजनेताओं और अफसरशाहों से बचाये ! चुपचाप अपना काम किया ! एक तोड़े-मरोड़े गए बयान के लिए दो भाजपाई गुंडों ने हमला किया तब भी शांत रहे,उन पर मुकदमा नहीं किया ! नहीं तो केस 307 का बनता था ! आज दोनों गुंडे जेल में होते न कि सांप्रदायिक गंदगी फैला रहे होते ! आज सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण के तर्क-साक्ष्यों को आधार मानते हुए अंतिम निर्णय सुनाया है की NDA-UPA के समय कोयला आवंटन में ज़बरदस्त धांधली हुई है और किसी नियम का पालन नहीं हुआ है ! भारतमाता की कोख इन नेताओं के हाथों लूटने से बचाने के लिए प्रशांत भूषण को दोनों हाथों सलाम ! संजीदा और सच्चे राष्ट्रभक्तों को आज अवश्य ख़ुशी हो रही होगी और वो प्रशांत जैसे भारतमाँ के बेटे को बधाई देंगे ताकि वो हमारे लिए लड़ता रहे इन दरिंदों से ! वैदिक जी के कश्मीर हाफिज सईद को दे देने वाले प्रवचन पर ससुराल में छुप गए कुतर्की भक्तों की गालियाँ आमंत्रित हैं !