Posted in Kashmir

सुबह मेरे पास एक महानुभाव आये और बोले … नमस्ते भाई ..कुछ योगदान कर दो .। मैंने पूछा क्या योगदान ???


सुबह मेरे पास एक महानुभाव आये और बोले …
नमस्ते भाई ..कुछ योगदान कर दो .।
मैंने पूछा क्या योगदान ???

मित्र : कश्मीर में जो बाढ़ आई है ..उसके लिए
कुछ …जो आपकी श्रधा हो

मै : महानुभाव सबसे पहले तो आप हमारे
दो काम करवा दो —

१. धारा ३७० हटवा दो ,और
दूसरा कश्मीरियों के द्वारा एक शपथ पत्र
दिलवा दो कि आगे से हमारी भारतीय
सेना पर पत्थर बाजी न करें .
महानुभाव गुमसुम…बिन जबाब दिए चुपचाप चले
गए ..
मित्रो क्या मेरी मांग जायज नही थी ?????
आप ही बताएं ?????
जय हिन्द जय भारत वन्देमातरम

Advertisements

Author:

Hello, Harshad Ashodiya I have 12,000 Hindi, Gujarati ebooks

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s