Posted in R S S

कश्मीर के बाढ़ पीडितो की मदद RSS कर रही है.


कश्मीर के बाढ़ पीडितो की मदद RSS कर रही है..और ये विदेशी मजहब वाले इराक के सुन्नी आतंकियों की तरफ से शिया मुसलमानों को मारने के लिए विदेश जा रहे है..असल में इनकी मानसिक नागरिकता विदेशी होती है..
हैदराबाद. तेलंगाना पुलिस ने ISIS (हत्यारे सुन्नी मुसलमानों का आतंकी संगठन ) ज्वाइन करने की मंशा रखने वाले 15 मुस्लिम इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को पश्चिम बंगाल में ढूंढ निकाला है।

पुलिस ने न तो इन छात्रों का अरेस्ट किया है और न ही इन पर कोई केस दर्ज किया है। पुलिस इनसे पूछताछ कर कई अहम जानकारी हासिल कर रही है। अब तक की पूछताछ में छात्रों ने एक लड़की समेत कई छात्रों के नाम बताए हैं, जो आईएसआईएस के लिए लड़ने इराक जाने की फिराक में हैं। इन छात्रों ने पश्चिम बंगाल से हवाई मार्ग से इराक जाने का प्लान बनाया था। एक हफ्ते से गायब चल रहे इन छात्रों के अभिभावकों द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के बाद पुलिस इस मामले में सक्रिय हुई। पुलिस पूछताछ में खुलासा हुआ है देश में ISIS का खतरा जितना भांपा गया है, उससे कहीं अधिक है।

सिमी से भी जुड़े हैं तार
पुलिस ने इस मामले के मास्टरमाइंड शख्स की पहचान करीमनगर के एक छात्र के तौर पर की है। इसी छात्र ने सोशल नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से ‘जिहाद’ का आइडिया छात्रों के बीच फैलाया। इस काम में छात्र की मदद उसके एक रिश्तेदार ने की जो सिमी का सक्रिय सदस्य रहा है और आतंकवादी वारदात के एक मामले में भी आरोपित है।

कोड वर्ड में बात करते थे छात्र, 3.5 लाख रुपए भी मिले
15 छात्रों का यह समूह कोड लैंग्वेज के माध्यम से नियमित तौर पर एक-दूसर के संपर्क में था। मास्टरमाइंड छात्र के कहने पर समूह के बाकी लोगों ने अपने पासपोर्ट भी बनवा लिए थे। कई छात्रों को करीब 3.5 लाख रुपए भी दिए गए थे, जिसके स्रोत का पता नहीं है। पुलिस अधिकारी का कहना है, “हमने मास्टरमाइंड छात्र के परिजनों से भी बात की है और उन्हें पूरा मामला बताया है। हम इस मामले को यहीं बंद नहीं करने वाले हैं। मामले की जांच की जा रही है और हम यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि छात्रों को पैसे किसने भेजा।”http://www.bhaskar.com/news-ht/NAT-latest-news-in-hindi-15-hyderabad-youngsters-including-a-girl-wanted-to-join-isi-4741282-NOR.html

इस मामले में जांच कर रहे पुलिस अधिकारी का कहना है, “ISIS जिहादियों का दुष्प्रचार युवाओं को लुभा रहा है। वे दुष्प्रचार कर रहे हैं कि यदि दुनियाभर के युवा जंग में शामिल हो जाएं तो इस्लामिक स्टेट बनाने का सपना सच हो सकता है। उनके पास इस्लामिक स्टेट का एक आधारहीन विचार और उसका हासिल करने का मसकद है। उन्हें लगता है कि वे दमनकारी शासकों के खिलाफ लड़ रहे हैं और नया इस्लामिक राज्य बना रहे हैं।”
TP Shukla

कश्मीर के बाढ़ पीडितो की मदद RSS कर रही है..और ये विदेशी मजहब वाले इराक के सुन्नी आतंकियों की तरफ से शिया मुसलमानों को मारने के लिए विदेश जा रहे है..असल में इनकी मानसिक नागरिकता विदेशी होती है.. हैदराबाद. तेलंगाना पुलिस ने ISIS (हत्यारे सुन्नी मुसलमानों का आतंकी संगठन ) ज्वाइन करने की मंशा रखने वाले 15 मुस्लिम इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को पश्चिम बंगाल में ढूंढ निकाला है। पुलिस ने न तो इन छात्रों का अरेस्ट किया है और न ही इन पर कोई केस दर्ज किया है। पुलिस इनसे पूछताछ कर कई अहम जानकारी हासिल कर रही है। अब तक की पूछताछ में छात्रों ने एक लड़की समेत कई छात्रों के नाम बताए हैं, जो आईएसआईएस के लिए लड़ने इराक जाने की फिराक में हैं। इन छात्रों ने पश्चिम बंगाल से हवाई मार्ग से इराक जाने का प्लान बनाया था। एक हफ्ते से गायब चल रहे इन छात्रों के अभिभावकों द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के बाद पुलिस इस मामले में सक्रिय हुई। पुलिस पूछताछ में खुलासा हुआ है देश में ISIS का खतरा जितना भांपा गया है, उससे कहीं अधिक है। सिमी से भी जुड़े हैं तार पुलिस ने इस मामले के मास्टरमाइंड शख्स की पहचान करीमनगर के एक छात्र के तौर पर की है। इसी छात्र ने सोशल नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से 'जिहाद' का आइडिया छात्रों के बीच फैलाया। इस काम में छात्र की मदद उसके एक रिश्तेदार ने की जो सिमी का सक्रिय सदस्य रहा है और आतंकवादी वारदात के एक मामले में भी आरोपित है। कोड वर्ड में बात करते थे छात्र, 3.5 लाख रुपए भी मिले 15 छात्रों का यह समूह कोड लैंग्वेज के माध्यम से नियमित तौर पर एक-दूसर के संपर्क में था। मास्टरमाइंड छात्र के कहने पर समूह के बाकी लोगों ने अपने पासपोर्ट भी बनवा लिए थे। कई छात्रों को करीब 3.5 लाख रुपए भी दिए गए थे, जिसके स्रोत का पता नहीं है। पुलिस अधिकारी का कहना है, "हमने मास्टरमाइंड छात्र के परिजनों से भी बात की है और उन्हें पूरा मामला बताया है। हम इस मामले को यहीं बंद नहीं करने वाले हैं। मामले की जांच की जा रही है और हम यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि छात्रों को पैसे किसने भेजा।"http://www.bhaskar.com/news-ht/NAT-latest-news-in-hindi-15-hyderabad-youngsters-including-a-girl-wanted-to-join-isi-4741282-NOR.html इस मामले में जांच कर रहे पुलिस अधिकारी का कहना है, "ISIS जिहादियों का दुष्प्रचार युवाओं को लुभा रहा है। वे दुष्प्रचार कर रहे हैं कि यदि दुनियाभर के युवा जंग में शामिल हो जाएं तो इस्लामिक स्टेट बनाने का सपना सच हो सकता है। उनके पास इस्लामिक स्टेट का एक आधारहीन विचार और उसका हासिल करने का मसकद है। उन्हें लगता है कि वे दमनकारी शासकों के खिलाफ लड़ रहे हैं और नया इस्लामिक राज्य बना रहे हैं।" TP Shukla
Advertisements

Author:

Hello, Harshad Ashodiya I have 12,000 Hindi, Gujarati ebooks

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s