Posted in भारत का गुप्त इतिहास- Bharat Ka rahasyamay Itihaas

हमको पढाया जा रहा है गलत इतिहास….


 
 
हमको पढाया जा रहा है गलत इतिहास.....
स्कूलोंे में पढाया जा रहा है कि सुभाष चंद्र बोस ने देश की आजादी के लिए सैना बनाई पर कभी वो सेना भारत पहुँच नहीं पायी रास्ते में ही खतम हो गयी ।
जबकी ये इतिहास गलत है सुभाष चंद्र बोस जी का जितना बडा योगदान हमारे देश को आजाद कराने में था वो शायद ही किसी का रहा हो । नेता जी सुभाष चंद्र बोस की फोज आसाम के किनारे समुद्री जहाज से उतरी थी और ब्रिटिश सेना को जोरदार टक्कर दी थी जिससे ब्रिटिश सरकार की नींव ही हील गयी और घबराकर उन्हें पीछे हटना पडा था बहुत से क्षेत्रोें में कब्जा करने के बाद हमारी भारतीय सेना ने ब्रिटिश की कई छावनीयों को ध्वंस्त कर दिया था । पर संख्या में कम होने के कारण भारतीय सेना को बाद में पकड लिया गया उन पर अनेकों जुल्म ढाये गये । गर्म चिमटियों से उनके चमडी ऊतारी गयी, उनको जेलों में दाने दाने के लिए तडपाय ागया । कई लोगों की जदीभ काड दी गयी कईयों को काले पानी की सजा दे दी गयी । कई लोगों को अंधेरी कोढरी म ें बहुत से खतरनाक जीव जंतुओं के सामने डाल दिया गया । कईयों को भूखे शेर के सामने सरकस जैसा मजा लूटते रहे ये ब्रिटिश लोग । 

ये सब देखकर भारतीय लोग जो सेना में थे उनके खून में ऊबाल उठा और उन्होंने विद्रोह कर दिया भारतीय सेना के विद्रोह के कारण ब्रिटिश सेना को करारी हार खानी पडी । 78 समुद्री जहाज ब्रिटिश सेना के जला दिये गये । ब्रिटिश सेना में भारतीय 18 लाख की संख्या मे थे औऱ ब्रिटिश सैनिक 2 लाख । भारतीय सैनिकों का विद्रोह औऱ संगठन इतना मजबूत था के ब्रिटिश सेना को घबराकर उनको भारत देश को छोडना पडा । आज ये इतिहास भारत के स्कूलों में नहीं पढाया जाता । आपका वीरता भरा इतिहास आपसे छुपाया गया । और आपके सामने रखा गया कांग्रेस को फायदा पहुँचाने वाला इतिहास ताकि कांग्रेस पार्टि देश पर राज कर सके । महात्मा गाँधी और नेहरू जी को तो आप जानते होंगे पर क्या कभी आपने सोचा है केवल इन दो के बल से देश आजाद नहीं हुआ । केवल अहिंसा ही देश को आजादि नहीं दिला सकी देश में आजादि के लिए बहुत बलिदान भी दिये गये थे । 

सरदार वल्लभ भाई पटेल, सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, चंद्र शेखर आजाद, खुदीराम बोस, वीर सावरकर, राम प्रसाद बिसमिल बहुत से शहीदों ने अपनी जीवन की बलिदानी दी तभी आज हम इस आजाद देश में साँस ले पा रहे हैं ।

इसका प्रमाण मिलता है कि ब्रिटेन के तत्कालिन प्रधानमंत्री एटली से जब ये पूछा गया की आपको सबसे बडी टक्कर किस देश ने दी जिससे आपको करारी हार खानी पडी और आपको डर भी लगा । तब उन्होने कहा हमें भारत से सबसे ज्यादा खतरा और डर था ।  भारत देश की सेना और उनकी जनता में अपार बल औऱ साहस के साथ साथ युद्ध नीती थी की अगर हम भारत को आजाद नहीं करते तो शायद वो हमारे इंग्लेंड को भी नष्ट कर डालते उनमें आजादी का कडा जूनून था । 

अपने देश के इतिहास को जानों युवानों, कहीं देर ना हो जाये । 

आपके गौरवशाली इतिहास को आपसे छुपाया जा रहा है जानिये सच्चा इतिहास डाॅ सुब्रमण्यम स्वामी जी की जुबानी .................. जरूर देखें विडियो

https://www.youtube.com/watch?v=5qYmA2BvcPQ&list=UUDnCzWI3cKSExdlDfuB3Zeg

हमको पढाया जा रहा है गलत इतिहास…..
स्कूलोंे में पढाया जा रहा है कि सुभाष चंद्र बोस ने देश की आजादी के लिए सैना बनाई पर कभी वो सेना भारत पहुँच नहीं पायी रास्ते में ही खतम हो गयी ।
जबकी ये इतिहास गलत है सुभाष चंद्र बोस जी का जितना बडा योगदान हमारे देश को आजाद कराने में था वो शायद ही किसी का रहा हो । नेता जी सुभाष चंद्र बोस की फोज आसाम के किनारे समुद्री जहाज से उतरी थी और ब्रिटिश सेना को जोरदार टक्कर दी थी जिससे ब्रिटिश सरकार की नींव ही हील गयी और घबराकर उन्हें पीछे हटना पडा था बहुत से क्षेत्रोें में कब्जा करने के बाद हमारी भारतीय सेना ने ब्रिटिश की कई छावनीयों को ध्वंस्त कर दिया था । पर संख्या में कम होने के कारण भारतीय सेना को बाद में पकड लिया गया उन पर अनेकों जुल्म ढाये गये । गर्म चिमटियों से उनके चमडी ऊतारी गयी, उनको जेलों में दाने दाने के लिए तडपाय ागया । कई लोगों की जदीभ काड दी गयी कईयों को काले पानी की सजा दे दी गयी । कई लोगों को अंधेरी कोढरी म ें बहुत से खतरनाक जीव जंतुओं के सामने डाल दिया गया । कईयों को भूखे शेर के सामने सरकस जैसा मजा लूटते रहे ये ब्रिटिश लोग ।

ये सब देखकर भारतीय लोग जो सेना में थे उनके खून में ऊबाल उठा और उन्होंने विद्रोह कर दिया भारतीय सेना के विद्रोह के कारण ब्रिटिश सेना को करारी हार खानी पडी । 78 समुद्री जहाज ब्रिटिश सेना के जला दिये गये । ब्रिटिश सेना में भारतीय 18 लाख की संख्या मे थे औऱ ब्रिटिश सैनिक 2 लाख । भारतीय सैनिकों का विद्रोह औऱ संगठन इतना मजबूत था के ब्रिटिश सेना को घबराकर उनको भारत देश को छोडना पडा । आज ये इतिहास भारत के स्कूलों में नहीं पढाया जाता । आपका वीरता भरा इतिहास आपसे छुपाया गया । और आपके सामने रखा गया कांग्रेस को फायदा पहुँचाने वाला इतिहास ताकि कांग्रेस पार्टि देश पर राज कर सके । महात्मा गाँधी और नेहरू जी को तो आप जानते होंगे पर क्या कभी आपने सोचा है केवल इन दो के बल से देश आजाद नहीं हुआ । केवल अहिंसा ही देश को आजादि नहीं दिला सकी देश में आजादि के लिए बहुत बलिदान भी दिये गये थे ।

सरदार वल्लभ भाई पटेल, सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, चंद्र शेखर आजाद, खुदीराम बोस, वीर सावरकर, राम प्रसाद बिसमिल बहुत से शहीदों ने अपनी जीवन की बलिदानी दी तभी आज हम इस आजाद देश में साँस ले पा रहे हैं ।

इसका प्रमाण मिलता है कि ब्रिटेन के तत्कालिन प्रधानमंत्री एटली से जब ये पूछा गया की आपको सबसे बडी टक्कर किस देश ने दी जिससे आपको करारी हार खानी पडी और आपको डर भी लगा । तब उन्होने कहा हमें भारत से सबसे ज्यादा खतरा और डर था । भारत देश की सेना और उनकी जनता में अपार बल औऱ साहस के साथ साथ युद्ध नीती थी की अगर हम भारत को आजाद नहीं करते तो शायद वो हमारे इंग्लेंड को भी नष्ट कर डालते उनमें आजादी का कडा जूनून था ।

अपने देश के इतिहास को जानों युवानों, कहीं देर ना हो जाये ।

आपके गौरवशाली इतिहास को आपसे छुपाया जा रहा है जानिये सच्चा इतिहास डाॅ सुब्रमण्यम स्वामी जी की जुबानी ……………… जरूर देखें विडियो

https://www.youtube.com/watch?v=5qYmA2BvcPQ&list=UUDnCzWI3cKSExdlDfuB3Zeg

Author:

Buy, sell, exchange books

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s